लखनऊ कोंग्रेस दफ्तर में बने क्वार्टर में कब्जे को लेकर भिड़े नेता और कर्मचारी

Smart News Team, Last updated: Sat, 3rd Apr 2021, 2:25 PM IST
  • लखनऊ में स्थित माल एवेन्यू स्थित यूपी कांग्रेस कार्यालय में परिसर में बने सर्वेंट क्वार्टर में कब्जादारी को लेकर कांग्रेस नेता और पूर्व कर्मचारियों के बीच जमकर हंगामा हुआ. पुलिस ने मामले को संभालते हुए दोनों पक्षों को अलग कराया और साथ ही क्रॉस एफआईआर भी दर्ज की.
लखनऊ कोंग्रेस दफ्तर में बने क्वार्टर में कब्जे को लेकर भिड़े नेता और कर्मचारी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के लखनऊ में स्थित माल एवेन्यू स्थित यूपी कांग्रेस कार्यालय में खूब हंगामा हुआ. शुक्रवार को कार्यालय परिसर में बने सर्वेंट क्वार्टर में कब्जादारी को लेकर हंगामा शुरू हुआ. कांग्रेस नेता और पूर्व कर्मचारियों के आमने सामने होने की सूचना मिलते ही हुसैनगंज पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने मामले को संभालते हुए दोनों पक्षों को अलग कराया और साथ ही क्रॉस एफआईआर भी दर्ज की.

इंस्पेक्टर दिनेश सिंह विष्ट ने बताया कि कांग्रेस पार्टी दफ्तर के परिसर में ही कर्मचारियों के लिए क्वार्टर बने हुए हैं. इन क्वार्टर में रिटायर हो चुके कर्मचारियों के परिवार अभी भी रहते हैं. विवाद का कारण भी यही है. कांग्रेस की तरफ से कई बार मकान खाली करने की नोटिस दिया जा चुका है. वहीं पूर्व कर्मचारी दूसरा ठिकाना नहीं होने के कारण क्वार्टर नहीं छोड़ रहे हैं. जिसकी वजह से दोनों पक्षों के बीच तनातनी रहती है.

अतीक अहमद के शूटर को गनर देने पर IPS अमिताभ ठाकुर का DGP को पत्र, कही ये बात

क्वार्टर में रहने वाले प्रदीप शुक्ल के अनुसार उनके अगस्त महीने में क्वार्टर की बिजली सप्लाई काट दी गई थी. जिसके बाद कई परिवार बिजली के बिना अंधेरे में रहने के लिए मजबूर है. बच्चों को पढ़ाई में भी दिक्कत होती है. कई बार बच्चे रात के वक्त पार्टी कार्यालय के बरामदे में पढ़ने के लिए चले जाते हैं, जिस पर वह लोग एतराज जताते हैं.

बढ़ते कोरोना केस के चलते लखनऊ संग इन जिलों के 1 से 12 तक के स्कूल बंद

मालवीय नगर वार्ड की परिषद ममता चौधरी ने कहा कि क्वार्टर खाली करने के लिए कई बार अल्टीमेटम दिया जा चुका है, मगर लोग सुनने को तैयार नहीं हैं. उन्होंने बताया कि शुक्रवार को वह यही बात करने के लिए गई थी. जहां उनके साथ अभद्र व्यवहार किया गया. इसमें प्रदीप शुक्ला शिवम शुक्ल और विष्णु उपाध्याय शामिल थे. ममता चौधरी ने विपक्षियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है. आरोप लगने के बाद प्रदीप शुक्ल ने बताया कि ममता चौधरी ने अन्य कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर मारपीट और गाली गलौज की है. इस आधार पर ममता चौधरी और उनके साथियों पर के खिलाफ भी हुसैनगंज कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज की गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें