UP में आज 6 और जिले कोरोना कर्फ्यू से मुक्त, 600 से कम मामले आने पर मिली ढ़ील

Smart News Team, Last updated: Mon, 31st May 2021, 2:47 PM IST
  • यूपी के जिन जिलों में 600 से अधिक कोरोना संक्रमण के मामले होंगे उन जिलों में सख्ती बरती जाएगी. जबकि ऐसे जिले जहां 600 से कम कोरोना संक्रमण के मामले होंगे वहां ढ़ील दी जाएगी. ऐसे में अगर किसी जिले में यह आंकड़ा नीचे जाकर फिर 600 से अधिक होंगे, ढ़ील खत्म कर दी जाएगी और सख्ती बरती जाएगी. इसी तरह अगर किसी जिले में कोरोना संक्रमण के मामले 600 से अधिक हैं और फिर यह आंकड़ा इसके नीचे आता है तो वहां लॉकडाउन के नियमों में राहत दी जाएगी.
जिन जिलों में 600 से अधिक कोरोना संक्रमण के मामले होंगे उन जिलों में सख्ती बरती जाएगी.

लखनऊ- उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने कोरोना के 600 केसों को पैमाना बनाया है. दरअसल, यूपी के जिन जिलों में 600 से अधिक कोरोना संक्रमण के मामले होंगे उन जिलों में सख्ती बरती जाएगी. जबकि ऐसे जिले जहां 600 से कम कोरोना संक्रमण के मामले होंगे वहां ढ़ील दी जाएगी. ऐसे में अगर किसी जिले में यह आंकड़ा नीचे जाकर फिर 600 से अधिक होंगे, ढ़ील खत्म कर दी जाएगी और सख्ती बरती जाएगी. इसी तरह अगर किसी जिले में कोरोना संक्रमण के मामले 600 से अधिक हैं और फिर यह आंकड़ा इसके नीचे आता है तो वहां लॉकडाउन के नियमों में राहत दी जाएगी.

इस बीच कोरोना की दूसरी लहर का कहर थोड़ा कम हुआ है. कोरोना संक्रमण के नए मामलों में लगातार कमी आ रही है. उत्तर प्रदेश के 6 और जिलों में कोरोना के एक्टिव मामले 600 से कम हो गए. जिसके बाद इन जिलों को कोरोना कर्फ्यू से मुक्त कर थोड़ी ढ़ील दी गई.

UP Unlock: 1 जून से यूपी में खुलेगा सरकारी दफ्तर, प्राइवेट ऑफिस, गाइडलाइन पढ़ें

बताते चलें कि उत्तर प्रदेश के बिजनर, मुरादाबाद, देवरिया, बागपथ, प्रयागराज और सोनभद्र जिले में आज 600 से कम कोरोना के एक्टिव मामले सामने आए. जिसके बाद इन जिलों में ढ़ील दी गई. साथ ही बताते चलें कि अब यूपी के महज 14 जिलों में आंशिक कोरोना कर्फ्यू लागू है.

व्यापार मंडल की CM योगी से मांग- वापस हों कर्फ्यू के समय कारोबारियों पर दर्ज केस

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें