लखनऊ: 16 की जगह अब 12 अस्पतालों में 1200 हेल्थ वर्कर को लगेगी कोरोना वैक्सीन

Smart News Team, Last updated: Fri, 15th Jan 2021, 12:46 AM IST
  • वैक्सीन की लॉचिंग है 16 जनवरी को, प्रधानमंत्री संवाद कार्यक्रम भी करेंगे, वैक्सीनेशन सेंटरों की संख्या में कटौती कर 16 के बजाए 12 कर दी. अब 16 के बजाए 12 सेंटरों पर 1200 हैल्थ वर्कर्स का कोरोना वैक्सीन का टीका लगाया जायेगा.
लखनऊ: 16 की जगह अब 12 अस्पतालों में 1200 हेल्थ वर्कर को लगेगी कोरोना वैक्सीन

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने राजधानी लखनऊ में कोरोना वैक्सीनेशन सेंटरों की संख्या में कटौती कर 16 के बजाए 12 कर दी. अब 16 के बजाए 12 सेंटरों पर हैल्थ वर्कर्स का कोरोना वैक्सीन का टीका लगाया जायेगा. 4 अस्पतालों को टीकाकरण की सूची से हटा दिया गया है. इन अस्पतालों को क्यों हटाया गया? इस बारे में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं. माना जा रहा है किसी भी तरह की गड़बड़ी या अनियमितता से बचने के लिए अस्पतालों की संख्या फिलहाल घटाई गई है. पहले दिन 1200 हेल्थ वर्कर को कोरोना वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा. अधिकारियों का कहना है कि यह अंतिम सूची है. इस पर शासन ने मुहर लगा दी है. अब इसमें किसी भी तरह के रद्दोबदल की गुंजाइश कम है.

16 जनवरी से देशव्यापी टीकाकरण का शुभांरभ है. इसी दिन पहले लखनऊ में 16 अस्पतालों में 1600 हेल्थ वर्कर का टीकाकरण होना था. लेकीन अब रणनीति में बदलाव कर अस्पतालों की संख्या 16 से घटाकर 12 कर दी गई है. इनमें आठ सरकारी और चार प्राइवेट अस्पताल शामिल हैं. प्रत्येक सेंटर पर एक बूथ बनेगा. जिसमें 100 हेल्थ वर्कर को कोरोना वैक्सीन लगाई जायेगी. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संवाद कार्यक्रम होगा. इस संवाद से यहां के सभी 12 अस्पतालों को जोड़ेंगे.

रोहतास बिल्डर ने 21 कंपनियां बनाकर जनता और बैंक से ठगे 511 करोड़ रुपए

वैक्सीनेशन की लॉचिंग मौके पर किसी भी तरह की गड़बड़ी से बचने के लिए अधिकारी लगातार रणनीति पर मंथन कर रहे हैं. संभावित तौर पर इसलिए केंद्रों को भी घटाया गया है. सीएमओ डॉ. संजय भटनागर के मुताबिक शासन की तरफ से सेंटर की संख्या तय की गई है. उच्च अधिकारियों के निर्देश पर तैयारियां पूरी कर ली गई हैं.

वैक्सीनेशन केन्द्रों पर एक दिन पहले पहुंचेगी वैक्सीन

सीएमओ के मुताबिक वैक्सीन सेंटर पर एक दिन पहले टीके पहुंचाए जाएंगे. वहीं जिन अस्पतालों में टीकाकरण होना है वहां सुबह नौ बजे से पहले वैक्सीन पहुंचाई जाएगी. 21 कोल्ड चेन प्वाइंट हैं. अधिकारियों के मुताबिक ट्रॉयल के दौरान कोल्ड चेन प्वाइंट से अस्पतालों में वैक्सीन पहुंचाने में पांच मिनट से 40 मिनट का वक्त लगा है. ट्रॉयल के दौरान आंकलन किए गए समय का खयाल रखकर ही पुलिस सुरक्षा में वैक्सीन रवाना की जाएगी. इसकी जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी और पुलिस पर होगी.

लखनऊ में महिलाएं नहीं है शराब पीने के मामले में पीछे, कोरोना काल में बढ़ा चलन

कहां-कहां होगा टीकाकरण

केजीएमयू, पीजीआई, लोहिया संस्थान, बलरामपुर, वीरांगना अवंतीबाई अस्पताल में वैक्सीनेशन होगा. चिनहट, माल व मोहनलालगंज सीएचसी पर भी टीका लगेगा. निजी अस्पताल में एरा, सहारा, टीएस अस्पताल व मेदांता शामिल हैं.

खाते में पड़े है करोड़ों, विकास के नाम पर बजट का रोना रो रहे नगर निगम

फैक्ट फाइल

० 51 हजार हेल्थ वर्कर का होना है टीकाकरण.

० 205 सरकारी व 750 प्रावइेट अस्पताल में तैनात हैं हेल्थ वर्कर.

० 62 अस्पतालों होगा टीकाकरण. इनमें कुल 200 बूथ हैं.

० 21 कोल्ड चेन प्वाइंट बनाए गए हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें