लखनऊ: AAP नेता संजय सिंह ने योगी सरकार को बताया जुल्मी, लगाए गंभीर आरोप

Smart News Team, Last updated: 17/08/2020 08:28 AM IST
  • आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सांसद संजय सिंह के एक ट्वीट करके सीएम योगी आदित्यनाथ पर आरोप लगाए हैं कि उन्होंने आप के कार्यालय पर ताला लगवा दिया और पुलिस को भेजकर वहां के मकान मालिक को धमकाया गया है. 
लखनऊ: AAP नेता संजय सिंह ने योगी सरकार को बताया जुल्मी, लगाए गंभीर आरोप

लखनऊ. रविवार को आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सांसद संजय सिंह के एक ट्वीट ने प्रदेश के सियासत में खलबली मचा दी . इस ट्वीट में उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उनका कहना है कि योगी आदित्यनाथ बचकाने खेल खेल रहे हैं. दरअसल प्रदेश में हाल ही में होने वाले पंचायत चुनावों की तैयारी के लिए आम आदमी पार्टी नेता संजय सिंह राजधानी स्थित कार्यालय में बैठक करने वाले थे. जिसके लिए वो पार्टी कार्यालय पहुंचे लेकिन कार्यालय के गेट पर ताला लगा देखकर वो भड़क उठे. जिसके बाद ट्वीट करके उन्होने इसकी जानकारी दी और इस घटना के पीछे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का हाथ बताया. 

ट्वीट में उन्होंने लिखा कि योगी जी यह क्या बचकाना खेल रहे. मेरे कार्यालय पर ताला डलवा दिया. पुलिस भेजकर रात 12:00 बजे, सुबह 8:00 बजे और फिर 10:00 बजे मेरे मकान मालिक को धमकाया. इतनी मेहनत अपराध रोकने में करते तो जनता का भला होता. चिंता मत करो. हम आम आदमी हैं. सड़क पर कार्यालय खोल लेंगे, लेकिन आपके जुल्मी सरकार को बेनकाब करता रहूंगा.

लखनऊ: यूपी मंत्री चेतन चौहान के निधन पर PM मोदी और CM योगी ने जताया शोक

घटना के बारे पूछने पर गोमती नगर थाने के एसएचओ धीरज कुमार सिंह ने कहा कि पुलिस ने द्वारा किसी पार्टी कार्यालय पर कोई ताला नहीं लगाया है और ना ही पुलिस वहां गई है. यह ताला किसने और क्यों लगाया? इस बारे में अभी मुझे कोई जानकारी नहीं है. उन्होंने कहा कि पुलिस पर अनर्गल और निराधार आरोप लगाए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि हो सकता है मकान मालिक से उनमें किसी बात को लेकर कुछ विवाद हुआ हो. इस बारे में मकान मालिक से पूछताछ के बाद ही मामला स्पष्ट हो सकेगा, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है.

लखनऊ: रविवार शाम यूपी में 12 IPS अधिकारियों का ट्रांसफर, सात जिलों के DM बदले

थाना प्रभारी द्वारा स्थिति स्पष्ट करने के बाद आम आदमी पार्टी नेता संजय सिंह ने एक ट्वीट और किया है, जिसमें उन्होंने उन्होनें अपना एक वीडियो डाला है. जोकि उन्होनें गोमतीनगर में आप पार्टी के कार्यालय के बाहर खड़े होकर बनाया है. उसमें कहा कि योगी जी आपसे अपराध नहीं रुक रहे, लेकिन मुझे रोकना चाह रहे हैं. उन्होंने दावा किया है कि पिछले कुछ माह से मैं सच की आवाज उठाता रहता हूं. इसी कारण योगी सरकार ने मकान मालिक पर दबाव डालकर मेरे कार्यालय पर ताला लगवा दिया. मैं नहीं चाहता कि मेरी वजह से मकान मालिक परेशान हों. मैं कहीं दूसरी जगह अपना कार्यालय खोल लूंगा. 

उन्होंने कहा कई लोगों के मुझे फोन आ रहे हैं, कि मेरे यहां अपना दफ्तर खोल लीजिए. योगी जी यह हरकत करना बंद करें. आप आम आदमी पार्टी का कार्यालय तो बंद कर सकते हैं योगी जी लेकिन सच की आवाज नही बंद हो सकती. आपके जुल्म ज़्यादती के खिलाफ बोलता रहा हूं और बोलता रहूंगा. बचकाना खेल खेलना बंद करो, लखनऊ में हूं गिरफतार करो. हम आम आदमी पार्टी के लोग हैं, हमको कार्यालय की जरूरत नहीं है. हम तो सड़क पर कार्यालय खोल लेंगे, हमसे आप इतना घबरा क्यों रहे हैं, इसका कारण समझ में नहीं आ रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें