कोरोना से मरे LDA कर्मचारियों की फाइल दबाकर बैठे अफसरों के खिलाफ होगी कार्रवाई

Smart News Team, Last updated: Mon, 31st May 2021, 11:25 PM IST
कोरोना संक्रमण के वजह से अपनी जान खो चुके कर्मचारियों और इंजीनियरों के आश्रितों के नौकरी, पेंशन और बिल भुगतान की फाइल पर लापरवाही बरत रहे अधिकारियों पर कार्रवाई के लिए सीएम योगी के मांगे गए रिपोर्ट के बाद से एलडीए के सभी अधिकारी मृतक के फाइल पर तेजी से काम करने लगे हैं.
सीएम ने एलडीए के कोरोना मृतकों की फाइल दबाने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए मांगा रिपोर्ट. (प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ : कोरोना संक्रमण के कारण कई एलडीए के कर्मचारी और इंजीनियर ने अपना जान गई है. कर्मचारी और इंजीनियर की मौत के बाद उनके आश्रित को पेंशन की सुविधा और परिजन को नौकरी देने सहित उनके बिल के भुगतान से संबंधित कामों पर एलडीए के अधिकारी लापरवाही से काम कर रहे थे. जिससे उनके परिजन काफी परेशान थी. लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जब से मृतक एलडीए कर्मचारियों और इंजीनियर के फाइल को दबाने वाले कर्मचारियों और अधिकारियों के ऊपर कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री ने रिपोर्ट मांगा है.

उसके बाद से ही एलडीए के सभी कर्मचारी और अधिकारी सभी मृतक कर्मचारियों और इंजीनियरों के फाइल पर तेजी से काम करने लगे हैं. जो फाइलें पहले एक ही अधिकारी के पास फंसी रहती थी. वह तेजी से आगे बढ़ने लगी है. मुख्यमंत्री के रिपोर्ट मांगने का असर यह हुआ है कि एलडीए के सभी 13 मृतक एलडीए कर्मचारियों और अधिकारियों से संबंधित फाइल पर तेजी से अधिकारी कार्रवाई करने लगे हैं.

लखनऊ: ब्लैक फंगस का कहर जारी, 24 घंटों में 10 संक्रमित मरीज भर्ती और तीन मौत

कोरोना संक्रमण के वजह से अपनी जान खो चुके एलडीए के जूनियर इंजीनियर नरेंद्र कुमार सिंह की बेटी को नौकरी मिल गई. मुख्यमंत्री के दखल देने से पहले मृतक नरेंद्र कुमार सिंह की बेटी के नौकरी के फाइल को मंजूरी तक नहीं मिली थी. यहां तक कि अधिकारियों ने उनके पत्नी को 2 महीने का पेंशन दे दिया.

मेदांता अस्पताल में भर्ती आजम खान की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव, सेहत में सुधार

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें