लखनऊ के वायु प्रदूषण का स्तर बेहद खतरनाक, AQI में हुई बढ़ोतरी

Smart News Team, Last updated: Sun, 27th Dec 2020, 11:29 PM IST
लखनऊ में रविवार को बढ़े प्रदूषण के कारण वहां की हवा में सांस लेना मुश्किल हो गया. इस कारण शहर का एक्यूआई भी 350 माइक्रोग्राम जा पहुंचा. इससे अंदाजा लगया जा सकता है कि कितनी ज्यादा शहर की हवा खराब रही.
लखनऊ में प्रदूषण का स्तर बढ़ा

लखनऊ: बढ़ते प्रदूषण के कारण मात्र 24 घंटों के भीतर ही शहर की हवा में सांस लेना मुश्किल होता जा रहा है. जिसके चलते शहर का एयर क्वालिटी इंडेक्स 350 माइक्रोग्राम पर जा पहुंचा. सीपीसीबी की मानें तो राजधानी का एक्यूआई शनिवार को कुछ कम था. लेकिन, रविवार को इसमें काफी वृद्धि हो जाने से शहर के चार जगहों की स्थिति तो काफी खराब रही.

वहीं, अभी भी सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों की सूची में लखनऊ 16वें स्थान पर बना हुआ है. केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड ने शनिवार को शहर का एक्यूआई 278 माइक्रोग्राम बताया था. फिर रविवार को एक्यूआई में मोटर-वाहन की आवागमन बढ़ने से उत्तर प्रदेश का एक और शहर नोएडा देश के सबसे प्रदूषित शहरों में प्रथम पर रहा. इसके पीछे जिसमें बढ़ोतरी हुई वो था एक्यूआई जो 418 माइक्रोग्राम पर जा पहुंचा. 

योगी सरकार ने बिना चुनाव कराए ग्राम पंचायतें भंग कर दी, ऐसी सरकार यूपी क्या चलाएगी: अखिलेश

इनके अतिरिक्त यूपी के बुलंदशहर दूसरे और गाजियाबाद तीसरे पायदान पर रहा. जिनमें बुलंदशहर का 413 माइक्रोग्राम और गाजियाबाद का 407 माइक्रोग्राम एक्यूआई जा पहुंचा.

यूपी जिला पंचायत चुनाव में 3 हजार से ज़्यादा सीटों पर उतरने की तैयारी में BJP

लखनऊ के चार स्थलों में से एक तालकटोरा की हवा काफी खराब स्थिति में रही. जिसके कारण इस जगह का एक्यूआई 432 माइक्रोग्राम जा पहुंचा. वहीं, लालबाग की हवा भी खतरनाक होने के चलते 17 प्वाइंट पीछे रही. इस स्थल पर भी एक्यूआई 383 माइक्रोग्राम जा पहुंची. इनके अलावा गोमतीनगर, अलीगंज स्थान भी प्रदूषण से मुक्त ना हो सका. यहां पर भी एक्यूआई 311 माइक्रोग्राम और अलीगंज में एक्यूआई 302 माइक्रोग्राम रिकॉर्ड स्तर पर जा पुहंचा.

UP के सरकार प्राप्त कॉलेजों में प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसरों की भर्ती जल्द

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें