लखनऊ: सिविल अस्पताल में दिल के मरीजों की जल्द शुरू होगी एंजियोप्लास्टी

Komal Sultaniya, Last updated: Sun, 6th Feb 2022, 10:41 PM IST
  • लखनऊ के सिविल अस्पताल में दिल के मरीजों की सभी जरूरी जांचों के साथ ही एंजियोप्लास्टी भी होगी. अस्पताल में दोबारा से कैथ लैब को स्थापित किया जा रहा है. यहां दिल के मरीजों की इसीजी, इको व इंजियोग्राफी के साथ एंजियोप्लास्टी की सुविधा जल्द शुरू होगी.
लखनऊ: सिविल अस्पताल में दिल के मरीजों की जल्द शुरू होगी एंजियोप्लास्टी

लखनऊ के सिविल अस्पताल में दिल के मरीजों की सभी जरूरी जांचों के साथ ही एंजियोप्लास्टी भी होगी. अस्पताल में दोबारा से कैथ लैब को स्थापित किया जा रहा है. यहां दिल के मरीजों की इसीजी, इको व इंजियोग्राफी के साथ एंजियोप्लास्टी की सुविधा जल्द शुरू होगी. अस्पताल प्रशासन ने इसका प्रस्ताव बना लिया है. जल्द ही मंजूरी के लिए शासन को भेजा जाएगा. अस्पताल प्रबंधन की योजना है कि इसी साल सभी सुविधाएं मरीजों को मिलने लगें. 

यह सुविधाएं शुरू करने वाला राजधानी का पहला सरकारी अस्पताल होगा. मरीजों को मुफ्त इलाज मिलेगा. सिविल अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आरपी सिंह बताते हैं कि अस्पताल के निदेशक डॉ. आनन्द ओझा के निर्देशन में कार्डियोलोजिस्ट के साथ बैठक में कैथ लैब शुरू करने पर सहमति बनी है.

स्वास्थ्य कर्मियों ने किया सिविल अस्पताल में काम बंद, तड़पे मरीज

सिविल अस्पताल के कार्डियोलॉजी वार्ड में आईसीयू के आठ बेड के अलावा 14 व 21 बेड के दोनों वार्ड भरे हैं. डॉ. आरपी सिंह बताते हैं कि सामान्य दिनों के मुकाबले दिल के मरीजों की संख्या करीब 30 फीसदी तक बढ़ गई है. ओपीडी में रोजाना करीब 100 मरीज ब्लड प्रेशर, सांस फूलने, सीने में दर्द आदि के दिल के मरीज आ रहे हैं. अस्पताल में इसीजी व इको की जांच कर डॉटर मरीजों का उपचार कर रहे हैं. हालाँकि कैथ लैब न होने से अन्य प्रोसीजर नहीं हो पा रहे हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें