बिजली चोरी पकड़ने गए संविदाकर्मियों पर हमला, वीडियो बनाने पर ग्रामीणों ने पीटा

Smart News Team, Last updated: Sun, 11th Jul 2021, 9:10 AM IST
  • लखनऊ में टिकरी गांव में नाइट पेट्रोलिंग के दौरान बिजली चोरी का विडियो बनाने पर ग्रामीणों ने संविदाकर्मियों की पिटाई कर दी. साथ ही उनका मोबाइल भी छीन लिया. हंगामें की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने कर्मचारियों को छुड़वाया.
इंटौजा के टिकरी गांव में बिजली चोरी पकड़ने गए संविदाकर्मियों के साथ मारपीट (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लखनऊ. राजधानी लखनऊ में इटौंजा के टिकरी गांव में बिजली चोरी पकड़ने गए संविदा कर्मचारियों पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया. दरअसल शनिवार को संविदा कर्मचारी नाइट पेट्रोलिंग के दौरान बिजली चोरी का वीडियो बना रहे थे. जिस पर ग्रामीणों ने कर्मचारियों के साथ मारपीट की और उनका मोबाइल भी छीन लिया. हंगामे की सूचना पाकर मौके पर स्थानीय पुलिस पहुंची और कर्मचारियों को छुड़वाया. जिसके बाद आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर पीड़ित कर्मचारियों ने थाने का घेराव कर दिया.

बिजली चोरी को रोकने के लिए लेसा ने शनिवार को बीकेटी के कुम्हरावां उपकेंद्र में नाइट पेट्रोलिंग की. रात 11 बजे के करीब संविदा कर्मचारी इंद्रजीत, सुजीत दीक्षित, शांशाक शेखर समेत पांच लोग टिकरी गांव पहुंचे. तभी गांव के लोग ट्यूबवेल चलाने के लिए एरियल बंच कंडक्टर में कील ठोककर बिजली की चोरी कर रहे थे. जिसे देख संविदाकर्मी शांशाक और इंद्रजीत मोबाइल से वीडियो बनाने लगे. जिसपर मौके पर मौजूद परशुराम, विपुल, रामराज समेत कई ग्रामीण विरोध करने लगे.

लखनऊ: इस बार नहीं निकलेगी रथ यात्रा, महाआरती में होंगे भगवान जगन्नाथ के दर्शन

ग्रामीणों ने कर्मचारियों का मोबाइल छीनकर दोनों को बंधक बना लिया और उन्हें पीटने लगे. शोर शराबे की आवाज सुन अन्य संविदाकर्मी सुजीत मौके पर आया और ग्रामीणों को रोकने की कोशिश की. जिसपर ग्रामीणों ने उसके भी कपड़े फाड़ दिया. सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची इटौंजा पुलिस ने कर्मचारियों को मुक्त कराया. दूसरी ओर जब उपकेंद्र के अन्य कर्मचारियों को इस घटना का पता चला तो सभी इटौंजा थाने पहुंचकर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे. मुख्य इंजीनियर मुधकर वर्मा के अनुसार आरोपियों के खिलाफ थाने में तहरीर दे दी गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें