लखनऊ शर्मसार! ऑटो चालकों ने मंदबुद्धि महिला को बंधक बनाकर किया गैंगरेप

Pallawi Kumari, Last updated: Tue, 28th Sep 2021, 9:44 AM IST
  • लखनऊ में ऑटो-रिक्शा चालक समेत आठ लोगों ने मानिसक रूप से बीमार एक मंदबुद्धि महिला का बंधक बनाकर गैंगरेप किया. इस काम में एक महिला ने भी हैवानों की मदद की. पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं महिला समेत पाचं आरोपियों की तलाश जारी है.
लखनऊ में बंधक बनाकर मंदबुद्धि महिला का गैंगरेप.

लखनऊ. आटो -रिक्शा चालकों समेत 8 दरिंदों ने कृष्णानगर की एक मानिसक मंदित मंदबुद्धि महिला को आलमनगर की बीजी कॉलोनी में बंधक बनाकर गैंगरेप किया. महिला के विरोध करने पर उसके कपड़े फाड़ दिए और मारपीट की. घटना को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी वहां से फरार हो गए. किसी तरह जान बचाकर पीड़िता थाने पहुंची. दरिंदों के साथ वारदात में एक महिला भी थी. पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है और चार आरोपियों को गिरफ्तार किया. वहीं महिला समेत पांच आरोपी फरार है, जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने दो टीमें तैयार की है.

कृष्णानगर में रहने वाली पीड़िता के पिता रेलवे हेड कलर्क पद से रिटायर है. 23 सितंबर को बेटी के गायब होने के बाद वह पूरी रात उसे ढूंढते रहे. इसके बाद उन्होंने कृष्णानगर थाने में बेटी के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई. दूरसे दिन 24 सिंतबर को आलमबाग कोतवाली में बेटी के होने की सूचना मिलते ही वह वहां पहुंचे. फटे कपड़ों में बेटी की हालत देख पिता सदमे में आ गए.

कोरोना महामारी के बीच बजी स्कूलों की घंटी, लेकिन ऑनलाइन पढ़ाई का भी रखना होगा विकल्प

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि, कृष्णानगर में आरती जूस कॉर्नर के पास वह खड़ी थी. इस दौरान ऑटो ड्राइवर ने उसे घर छोड़ने के बहाने बहला फुलसा कर बिठा लिया. ऑटो में एक महिला भी थी, जिसने उसे ऑटो में बिठाया और इसके बाद आलमबाग ले गए. कृष्णानगर इंस्पेक्टर अमरनाथ विश्वकर्मा ने बताया कि, घटना में शामिल बीजी कॉलोनी निवाली शिवनंदन, सोने लाल, अशोक कुमार और गिरिजेश को रविवार देर रात गिरफ्तार कर लिया गया है. 

वहीं एसीपी आलमबाग विक्रम सिंह ने बताया कि पीड़िता के बयान के आधार पर महिला और अन्य चार युवकों की तलाश जारी है. इसके लिए दो टीमें बनाई गई हैं. जल्द ही दरिंदे पुलिस की गिरफ्त में होंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें