लखनऊ: थप्पड़ गर्ल से पिटने वाले कैब ड्राइवर की राजनीति में एंट्री, ज्वाइन की शिवपाल की प्रसपा

Haimendra Singh, Last updated: Tue, 23rd Nov 2021, 10:52 AM IST
  • लखनऊ में थप्पड़ गर्ल के हाथों पिटने वाले ओला कैब ड्राइवर सहादत अली ने राजनीति में कदम रखा है. सहादत अली ने शुक्रवार को शिवपाल यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी की सदस्यता हासिल की है. अली का कहना है कि मैं युवाओं और पुरुषों की आवाज सुनना चाहता हूं ताकि उनके आत्मसम्मान की रक्षा हो सके.
लखनऊ में थप्पड़ गर्ल से पिटने वाले कैब ड्राइवर सहादत अली ने राजनीति में रखा कदम.

लखनऊ. आपको लखनऊ में बीच सड़क पर लड़की के हाथों कैब ड्राइवर को पीटने का मामला तो याद होगा, अब कैब ड्राइवर सहादत अली(Lucknow Cab driver Saadat Ali) ने राजनीति में कदम रखा है. मिली जानकारी के अनुसार, सादत अली ने शुक्रवार को यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव(Shivpal Yadav) की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी(Pragatisheel Samajwadi Party) को ज्वाइन कर लिया है. उन्होंने स्वयं इस बात की पुष्टि की है. राजनीति में आने के बाद अली ने कहा, कि मैं पॉलिटिक्स में इसलिए आया हूं कि पुरुषों की लड़ाई लड़ सके और उनको यथासंभव मदद पहुंचा सके.

शुक्रवार को प्रसपा में शामिल होने के बाद उन्होंने कहा, कि मैं उत्तर प्रदेश के युवाओं और पुरुषों की आवाज सुनना चाहता हूं ताकि उनके आत्मसम्मान की रक्षा हो सके. सहादत अली के राजनीति में आने पर लोग अलग-अलग तरह की प्रतिकिया दे रहे है. कुछ इस फैसले को सही मान रहे हैं, तो कुछ लोगों ने इससे इनकार किया है. बता दें कि कुछ समय पहले लखनऊ में एक लड़की ने सहादल अली को बीच पर थप्पड़ से पीटा था. शुरुआत में लड़की ने आरोप लगाया था कि कैब ड्राइवर उन्हें छेड़ रहे थे. पिटाई का यह वीडियो सोशल मीडिया पर बहुत वायरल हुआ था जिसके बाद लड़की ने पुलिस से मामले की शिकायत की थी.

BSP सुप्रीमो मायावती की PM मोदी से अपील, BJP नेताओं की बयानबाजी पर लगाएं लगाम

जांच में बेगुनाह साबित हुआ कैब ड्राइवर शहादत अली

लड़की की शिकायत के बाद लखनऊ पुलिस ने मामले की जांच शुरु की. पुलिस ने जांच के लिए सीसीटीवी और अन्य वीडियो की मदद ली गई. काफी छानबीन के बाद पता चला कि लड़की द्वारा लगाए गए आरोप गलत है. पुलिस ने युवती के खिलाफ लूट, मारपीट समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें