UP पुलिस ने पकड़ा चाइल्ड ट्रैफिकिंग गैंग, पति-पत्नी समेत 5 अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: 11/06/2021 02:13 PM IST
  • पुलिस ने लखनऊ में देह व्यापार के लिए इंटरस्टेट चाइल्ड ट्रैफिकिंग करने वाले गैंग के सदस्यों को गिरफ्तार किया है. जिनमें असम के पति-पत्नी समेत पांच लोग शामिल है. साथ ही दो नाबालिगों को इस गिरोह के कब्जे से मुक्त कराया है.
पुलिस ने चाइल्ड ट्रैफिकिंग करने वाले गिरोह के कब्जे से दो नाबालिग लड़कियों को मुक्त कराया (प्रतीकात्मक तस्वीर) 

लखनऊ. राजधानी लखनऊ में पुलिस ने देह व्यापार के लिए इंटरस्टेट चाइल्ड ट्रैफिकिंग करने वाले गिरोह का खुलासा किया है. गिरोह में असम के रहने वाले पति-पत्नी समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है. दोनों पति-पत्नी असम की रहने वाली दो नाबालिग लड़कियों को लेकर लखनऊ के गाजीपुर निवासी कंचन आंटी को देने आए थे. इसी दौरान पुलिस ने उन्हें अरेस्ट करके दोनों नाबालिग लड़कियों को छुड़ा लिया. ये आरोपी गरीब नाबालिग लड़कियों को काम दिलाने के बहाने अलग-अलग शहरों में लाकर बेच देते थे. 

बीते कई दिनों से पुलिस को गोमतीनगर इलाके में प्रदेश से बाहर की नाबालिग लड़कियों के देह व्यापार करने की सूचना मिल रही थी. जिसके आधार पर पुलिस ने गुरुवार को विपुलखंड के सहारा ब्रिज के नीचे कुछ लोगों को संदिग्ध गतिविधियों में देखकर हिरासत में ले लिया. गिरफ्तार हुए आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि संदिग्धों में असम का फैजुद्दीन और उसकी पत्नी है. जो दो नाबालिग लड़कियों को असम से लाकर लखनऊ के गाजीपुर निवासी कंचन आंटी को देने आए थे. लेकिन डिलीवरी से पहले ही पुलिस ने कंचन और उसके साथी सनी गुप्ता और राहुल गौतम को भी दबोच लिया.

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को लखनऊ पुलिस ने किया हाउस अरेस्ट

आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि ये गिरोह असम के कुछ पिछड़े जिलों से नाबालिग लड़कियों को काम दिलाने के बहाने प्रदेश से बाहर लाता है. जिसके बाद इन्हें नई दिल्ली, जयपुर, लखनऊ जैसे शहरों में अलग-अलग गिरोह को बेच देता है. पुलिस ने जिन लड़कियों को इन आरोपियों के कब्जे से मुक्त कराया है, वे असम के कामरूप जिले की रहने वाली है. फैजुद्दीन और उसकी पत्नी दोनों लड़कियों को काम दिलाने के बहाने लेकर आए थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें