गुड न्यूज: 75 दिन में पहली बार लखनऊ में एक भी कोरोना से मौत नहीं, जानें

Smart News Team, Last updated: Fri, 11th Jun 2021, 12:10 AM IST
  • लखनऊ में तकरीबन 75 दिन बाद भी कोरोना पीड़ित की मौत दर्ज नहीं की हुई है. 27 मार्च को कोरोना की दूसरी लहर की शुरुआत में भी किसी मरीज की मौत दर्ज नहीं की गई थी. कोरोना की मौतों का सिलसिला थमने से स्वास्थ्य विभाग को काफी राहत मिली है.
लखनऊ में एक भी कोरोना से मौत नहीं. ( सांकेतिक फोटो )

 लखनऊ। देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कारण मची तबाही के बाद तकरीबन हर राज्य में स्थिति अब धीरे-धीरे काबू में आ रही है. कोरोना से होने वाली मौतों का ग्राफ भी लगातार गिरता नजर आ रहा है. लखनऊ में तकरीबन 75 दिन बाद भी कोरोना पीड़ित की मौत दर्ज नहीं की हुई है. 27 मार्च को कोरोना की दूसरी लहर की शुरुआत में भी किसी मरीज की मौत दर्ज नहीं की गई थी. कोरोना की मौतों का सिलसिला थमने से स्वास्थ्य विभाग को काफी राहत मिली है. राजधानी में केवल 37 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं, जिनमें से अधिकतर मरीज अलीगंज, चिनहट, इंदिरानगर, पुराने लखनऊ और आलमबाग क्षेत्र के हैं.

राज्य में कोरोना से संक्रमित होने वाले मरीज ठीक हो रहे हैं. सीएमओ डॉ. संजय भटनागर के अनुसार गुरुवार को राज्य में एक्टिव केस की संख्या 505 सामने आई है. उन्होंने कहा कि लोगों की सावधानी से संक्रमितों की संख्या जल्द ही दहाई के नीचे पहुंचने की उम्मीद है. वहीं सक्रिय मरीजों की संख्या भी तेजी से घटेगी. लोगों को अभी भी सावधानी बरतने की जरूरत है. जरा सी लापरवाही घातक साबित हो सकती है. लक्षण नजर आने पर जांच कराएं. सरकारी अस्पतालों में कोरोना की मुफ्त जांच हो रही है. बारी आने पर कोरोना से बचाव का टीका भी लगवाएं.

लड़कियों को ना दें फोन, पहले बात करती फिर भाग जाती हैं: UP महिला आयोग मेंबर

गुरुवार को राज्य में कोरोना के कुल 237993 मामले सामने आए हैं. वहीं कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या 2507 सामने आई है. कोरोना से स्वस्थ्य होने वाले मरीजों की संख्या 234981 और एक्टिव केसों की संख्या 505 सामने आई है.

CM योगी दिल्ली के लिए रवाना, अमित शाह और पीएम मोदी से करेंगे मुलाकात

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें