लखनऊ: जिला जेल मामले में फार्मासिस्ट दोषी, गलत दवा देने से 100 कैदी हुए बीमार

Smart News Team, Last updated: 12/08/2020 08:39 PM IST
  • लखनऊ जिला जेल में गलत दवा देने के लिए फार्मासिस्ट को जेल प्रशासन ने हटा दिया है. 100 से अधिक बंदियों की गलत दवा खाने से तबीयत बिगड़ गई थी.
लखनऊ जिला जेल में गलत दवा खाने से 100 से अधिक बंदी बीमार हुए थे.

लखनऊ के जिला जेल में गलत दवा खाने से 100 से अधिक बंदियों की तबियत खराब होने के मामले में दवा बांटने वाले फार्मासिस्ट को जेल से हटा दिया गया है. डीआईजी जेल संजीव ने जांच में फार्मासिस्ट को दोषी पाया है. 18 बंदी अभी भी जेल के अस्पताल में भर्ती हैं. बलरामपुर अस्पताल के मानसिक रोग विशेषज्ञ को बुलाकर बीमार बंदियों का इलाज कराया गया है.

जिला जेल में गलत दवा खाने से मंगलवार को दर्जन बंदियों की तबियत बिगड़ी थी. वहीं बुधवार की सुबह भी 30 बंदियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. बीमार बंदियों ने शरीर में ऐंठन और बेहोशी की शिकायत की थी. हालांकि अब कई बंदियों की हालत में सुधार है जिसके बाद वापस उन्हें बैरकों में शिफ्ट कर दिया गया है. 

लखनऊ: स्मार्ट मीटर वालों का बिल भरने के बाद भी बिजली कनेक्शन कटा, जगह-जगह हंगामा

जेल प्रशासन ने फार्मासिस्ट आशीष वर्मा को मंगलवार ही स्थिति स्पष्ट करने का नोटिस जारी कर दिया था. जेल अधीक्षक ने बताया कि बंदियों को किएंटी एलर्जी सिट्रीजन दवा दी जानी थी लेकिन फार्मासिस्ट ने उन्हें हेलो पेरिडोल दवा दी जिसके कारण बंदियों को भारीपन महसूस होने लगा था. 

लखनऊ पीजीआई गेस्ट्रो में 2 मरीज और लोहिया संस्थान में 2 डॉक्टर कोरोना संक्रमित

डीआईजी ने जेल पहुंचकर मामले का जायजा लिया था. हालांकि बताया जा रहा है कि किसी भी बंदी की जान को कोई खतरा नहीं है. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें