लखनऊ: भ्रष्टाचार की शिकायतों के बाद एलडीए में DM की छापेमारी, 5 कर्मचारी अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: 21/11/2020 04:18 PM IST
  • भ्रष्टाचार की शिकायतों को लेकर डीएम अभिषेक प्रकाश ने शनिवार को एलडीए के छापा मारा जिसमें कई अधिकारियों को सस्पेंड करने का निर्देश दिया तो 5 कर्मचारियों को अरेस्ट किया गया. 
एलडीए में डीएम अभिषेक प्रकाश ने छापा मारा और कई अधिकारियों को संस्पेंड करने का निर्देश दिया.

लखनऊ. लखनऊ विकास प्राधिकरण एलडीए में शनिवार को डीएम ने अचानक छापा मारा. डीएम और वीसी अभिषेक प्रकाश ने छापे के दौरान बड़ी कार्रवाई की. जिलाधिकारी ने एलडीए के कई अधिकारियों और कर्मचारियों को सस्पेंड करने का निर्देश दिया और 5 कर्मचारियों को अरेस्ट किया गया. इस औचक हुए छापे से एलडीए के कर्मचारी दहशत में हैं. कुछ कर्मचारी तो कार्रवाई के डर से छुट्टी पर चले गए हैं.

जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश को एलडीए में भ्रष्टाचार की शिकायतें मिल रहीं थीं. जिसके बाद शनिवार को डीएम ने एलडीए में छापा मारा. इस दौरान जिलाधिकारी ने घोटाला करने वालों को जेल भेजने का निर्देश दिया. इसके अलावा डीएम ने एक अनुभाग विभाग के अधिकारी और एक आश्रय योजना के बाबू को सस्पेंड करने का आदेश दिया. वहीं अर्जन विभाग के एक कर्मचारी को जेल भेजने का निर्देश दिया और कुछ कर्मचारियों के वेतन को रेाकने का निर्देश दिया.

लखनऊ विश्वविद्यालय: 63 वे दीक्षांत समारोह आज, राज्यपाल व उपमुख्यमंत्री रहे मौजूद

जिलाधिकारी की इस अचानक हुए छापे और सख्त कार्रवाई से दहशत में आ गए हैं. वीसी अभिषेक प्रकाश को एलआईसू ने सौंपी अधिकारियों और उनके कमीशन की लिस्ट सौंपी. जिसमें वीसी के नाम पर 8 प्रतिशत कमीशन लिया जा रहा था. इस छापेमारी के दौरान डीएम ने कई लापरवाही और गड़बड़ियां पाईं. जिलाधिकारी अभिषेक को एलडीए अधिकारी के ऑफिस में एक प्रापर्टी डीलर टीवी देखते हुए मिला.

लखनऊ में फिर से बढ़ने लगी कोरोना की रफ्तार

एलडीए के अर्जन विभाग में भी कई गड़बड़ियां मिलीं. जिसके बाद अर्जन विभाग के 4 कर्मचारियों को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया. अर्जन विभाग के प्रभारी नजूल अधिकारी और पीसीएस पंकज कुमार को एलडीए से हटा दिया गया. वहीं जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने अर्जन विभाग के तहसीलदार असलम को सस्पेंड करने का निर्देश दिया. डीएम ने अर्जन के तहसीलदार मोहम्मद असलम, अर्जन के बड़े बाबू गौरी शंकर, ओएसडी डीके सिंह, संयुक्त सचिव ऋतु सुहास और नायब तहसीलदार स्निग्धा चतुर्वेदी का वेतन रोकने का आदेश दिया.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें