फास्टैग 1 जनवरी से अनिवार्य, फिर भी कैश लेन में कतार

Smart News Team, Last updated: Thu, 31st Dec 2020, 2:21 PM IST
  • एनएचआई अधिकारियों के मुताबिक लखनऊ में पिछले 5 दिनों में करीब 18 हजार फास्ट टैग बन चुके हैं. लेकिन फिर लोग कैश काउंटर का खूब इस्तेमाल कर रहे हैं. सरकार ने 1 जनवरी से सभी टोल प्लाजा पर फास्टैग अनिवार्य कर दिया है.
लखनऊ: फास्ट टैग 1 जनवरी से अनिवार्य, फिर कैश लेन में कतार

लखनऊ: लखनऊ को दूसरे जिलों से जोड़ने वाले प्रमुख हाईवे पर रोजाना एक से सवा लाख वाहन गुजरते हैं. 1 जनवरी से टोल पर फास्टैगअनिवार्य हो जाएगा, ऐसे मे इन हाईवे से गुजरने वाले कितने लोगों ने अभी तक नहीं लगवाए और क्या कारण है और क्या दिक्कत है इन सवालों के जवाब जाने के लिए हिंदुस्तान ने पड़ताल की.

वाहन स्वामी पूछ रहे हैं विकल्प

रायबरेली रोड पर निगोहां और बछरावां सब पहले टोल प्लाजा है बुधवार को इसके दोनों तरफ फैसले में लंबी कतार लगी हुई थी. कुछ लोग गाड़ी से उतरकर टोल कर्मी उसे फ के बारे में पूछताछ कर रहे थे टोल प्लाजा के दोनों ही तरफ बैंकों और एनएचआई की लाइन लगे थे वहां मौजूद कर्मचारी गाड़ियों में फास्टैग लगा रहे थे,

कर्क वार्षिक राशिफल: कैसा बीतेगा नया साल 2021, चमकेगी किस्मत या होगा नुकसान

दूसरे के नाम गाड़ी फिर भी लगवा सकते हैं

कई लोग रुक कर पूछ रहे थे कि उनकी गाड़ी किसी दूसरे के नाम दर्ज है फास्टैग कैसे लगवाएं कुछ कर्मचारियों ने बैंक कर्मी लोगों की गाड़ी में फास्टैग लगा रहे थे. इनमें से एक कर्मचारी बाल गोविंद ने बताया कि फास्टैग के लिए गाड़ी की आरसी, डीएल, आधार कार्ड जरूरी है मेरी गाड़ी दूसरे के नाम दर्ज है. तो भी फास्ट टैग लगवा सकते हैं. रायबरेली निवासी मोहित ने बताया कि उन्होंने हाल ही में सेकंड हैंड गाड़ी खरीदी है. अभी आरटीओ दफ्तर में आरसी ट्रांसफर के लिए आवेदन किया है. रोजाना हाईवे पर चलना होता है ऐसे में फास्टैग कैसे लगाएं.

योगी सरकार की बड़ी तैयारी, यशभारती की तर्ज पर दिया जाएगा राज्य संस्कृति पुरस्कार

कभी-कभी निकलते हैं इसलिए कैश से जा रहे हैं कैश लेन की कतार में लगे पर आज के एक वाहन स्वामी का कहना था कि वे डेढ़ साल में एक बार शहर से बाहर जाते हैं ऐसे में नहीं लगवाना चाहते.

बार-बार अटक रहा था टोल बैरियर

इस टोल प्लाजा पर फास्ट टैग लाइन में लगा बैरियर अटक रहा था. इसी बीच एक टैक्सी आए इसमें फास्ट चार्ज लगा हुआ था. लेकिन लेन बाद भी बैरिया नहीं उठा. ड्राइवर ने अपने फास्टैग का मोबाइल पर स्टेटस दिखाते हुए कहा कि उसे खाते में पर्याप्त पैसा है. टोल कर्मचारी ने अलग से एक मशीन से गाड़ी में लगे फास्टैग स्कैन किया बावजूद इसके वे या नहीं उठा इस पर कर्मचारी ने टैक्सी चालक से 95 रुपए के लिए.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें