लखनऊ रामलीला में पहली बार बेटियां निभाएंगी प्रमुख किरदार, टूटेगी 59 साल पुरानी परंपरा

Nawab Ali, Last updated: Fri, 8th Oct 2021, 7:21 AM IST
  • उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ महानगर रामलीला समिति ने इस बार पुरानी परंपरा को तोड़ते हुए बेटियों को रामलीला के प्रमुख किरदारों में दिखाया जायेगा. समिति का कहना है कि राम, लक्ष्मण के साथ भरत, शत्रुघ्न और ताड़का की भूमिका में मंच पर बेटियां नजर आयेंगी.
लखनऊ रामलीला में पहली बार प्रमुख किरदार बेटियां निभाएंगी. फाइल फोटो

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ महानगर रामलीला समिति ने इस बार पुरानी परंपरा को तोड़ते हुए बेटियों को रामलीला के प्रमुख किरदारों में दिखाया जायेगा. यह लखनऊ की पहली रामलीला होगी जहां पर बेटियां प्रमुख किरदार निभाएंगी. समिति का कहना है कि राम, लक्ष्मण के साथ भरत, शत्रुघ्न और ताड़का की भूमिका में मंच पर बेटियां नजर आयेंगी. इससे पहले राम और लक्ष्मण की भूमिका बेटियां निभा चुकी हैं. लखनऊ श्री महानगर रामलीला समिति हर साल पिछले 59 वर्षों से सेक्टर सी महानगर रामलीला भवन में आयोजन करता है.

राजधानी लखनऊ में होने वाली महानगर रामलीला समिति ने फैसला लिया है कि इस बार प्रमुख किरदारों में बेटियां भूमिका निभाएंगी. समिति के निदेशक का कहना है कि इस बार रामलीला का मंचन सिमित दायरे में किया जा रहा है ताकि कोरोना संक्रमण से बचा जा सकें. इस बार 12 अक्टूबर से रामलीला का आयोजन किया जायेगा और दशहरा के दिन 15 अक्टूबर को रामलीला का समापन होगा. लखनऊ में होने वाली इस रामलीला पर्वतीय समाज की ओर से कराई जाती है. महेंद्र पंत का कहना है कि भगवान राम का किरदार निभाने अगर बेटी निभाती है तो उसे उनके जीवन से परिचय होने का मौका मिलेगा. 

लखीमपुर खीरी कांड जांच सुपरविजन कमिटी के चीफ अब UP पुलिस के DIG होंगे, पहले थे ASP

रामलीला में इस बार अनुशिखा भगवान राम का किरदार निभाएंगी. अनुशिखा का कहना है कि उसके पिता उत्तराखंड में होने वाली रामलीला में भगवान राम का किरदार निभाते थे जिसके बाद मां की इच्छा थी की मैं भी भगवान राम की भूमिका निभाऊ. फाल्गुनी लोहुमी इस बार भरत का किरदार निभाने जा रही हैं इससे पहले वो अहिल्या और वन देवी का किरदार निभा चुकी हैं. यशी इस बार सीता का का किरदार निभाएंगी वो तीसरी बार सीता का किरदार निभाने जा आरही हैं. लक्ष्मण का किरदार निभाने के लिए सृष्टि को चुना गया है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें