56 घंटों के लिए बंद रहेगा लखनऊ गोरखपुर हाईवे, इन मार्गों का करें उपयोग

Naveen Kumar Mishra, Last updated: Fri, 12th Nov 2021, 1:15 PM IST
अयोध्या में 12 नवंबर से शुरू हो रहे चौदह कोसी परिक्रमा को लेकर ट्रैफिक को कुछ रूटों पर डायवर्जन किया गया है. 11 नवंबर की शाम 4 बजे से 13 नवंबर की आधी रात तक कुल 56 घंटों का डायवर्जन रहेगा.
अयोध्या में 12 नवंबर से शुरू हो रहे चौदह कोसी परिक्रमा को लेकर ट्रैफिक को कुछ रूटों पर डायवर्जन किया गया है

लखनऊ। चौदह कोसी परिक्रमा को लेकर 11 नवंबर की शाम 4 बजे से 13 नवंबर की आधी रात तक लखनऊ गोरखपुर हाईवे बंद रहेगा. अयोध्या में चौदह कोसी परिक्रमा के कारण 56 घंटों तक लखनऊ से बस्ती तक फोरलेन हाईवे सील रहेगा. बता दें अयोध्या में 12 नवंबर से पौराणिक और प्रसिद्ध कार्तिक मेला का आयोजन किया जा रहा है. इसकी शुरुआत चौदह कोसी परिक्रमा से होती है.

 

इन रूटों पर डायवर्जन रहेगा

अयोध्या में 12 नवंबर से शुरू हो रहे चौदह कोसी परिक्रमा को लेकर ट्रैफिक को कुछ रूटों पर डायवर्जन किया गया है. 11 नवंबर की शाम 4 बजे से 13 नवंबर की आधी रात तक कुल 56 घंटों का डायवर्जन रहेगा. लखनऊ, गोरखपुर, बस्ती, आजमगढ़, अंबेडकर नगर, सुल्तानपुर, रायबरेली, गोंडा और बहराइच के रूटों पर प्रशासन ने ट्रैफिक डायवर्जन करने का फैसला लिया है.

MMMUT Gorakhpur में तकनीकी शिक्षा के साथ सिखें बिजनेस करने के तरीके, सेल गठित

16 नवंबर से शुरू होगा टीकाकरण का महा अभियान, ढूंढ- ढूंढ कर दी जाएगी कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज

लखनऊ से गोरखपुर कैसे जाएं?

दरअसल अयोध्या में पौराणिक कार्तिक मेले का आयोजन चौदह कोसी परिक्रमा के साथ शुरू होता है. इस बीच भीड़भाड़ और सुरक्षा को देखते हुए प्रशासन ने लखनऊ से गोरखपुर जाने वाली हाईवे को 11 नवंबर की शाम से 13 नवंबर की आधी रात तक डायवर्ट कर दिया है. इस बीच लखनऊ से गोरखपुर जाने वाली यात्रियों को बाराबंकी से जरवल रोड होते हुए कर्नलगंज, उतरौला, डुमरिया से होते हुए गोरखपुर जाया जा सकता है.

गोरखपुर में प्रस्तावित प्लास्टिक पार्क को केंद्र सरकार की सैद्धांतिक सहमति, हजारों लोगों को मिलेगा रोजगार

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें