लखनऊ ग्रीन कॉरिडोर: गऊघाट-कुड़ियाघाट, खदरा में 817 करोड़ की लागत से फ्लाईओवर बनेगा

ABHINAV AZAD, Last updated: Thu, 16th Sep 2021, 6:41 PM IST
  • ग्रीन कारिडोर का काम पहले अक्टूबर माह में शुरू होना था. लेकिन एक माह पहले यानि सितंबर महीने में इस काम की शुरूआत कर दी गई है. बुधवार को इसी के तहत कार्यदायी संस्था टाटा कन्सलटिंग इंजीनियर्स द्वारा प्रोजेक्ट के पहले फेज की संशोधित डीपीआर लखनऊ विकास प्राधिकरण को सौंप दिया.
(प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ. ग्रीन कारिडोर के काम ने रफ्तार पकड़ ली है. दरअसल, पहले यह काम अक्टूबर माह में शुरू होना था. लेकिन एक माह पहले यानि सितंबर महीने में इस काम की शुरूआत कर दी गई है. ग्रीन कारिडोर के कामों को गति देने का काम लविप्रा उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी ने तेज कर दिया है. बुधवार को इसी के तहत कार्यदायी संस्था टाटा कन्सलटिंग इंजीनियर्स द्वारा प्रोजेक्ट के पहले फेज की संशोधित डीपीआर लखनऊ विकास प्राधिकरण को सौंप दिया.

इस योजना से जुड़े लोगों के मुताबिक, चूंकि डीपीआर तय हो गया है. इसलिए अब इस परियोजना का काम जल्द ही स्वरूप लेना शुरू कर देगा. बताया जा रहा है कि पहले फेस को बनाने में करीब 817 करोड़ का खर्च आया है. लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी के मुताबिक, इस ग्रीन कॉरिडोर प्रोजेक्ट के तहत गोमती नदी के दोनों किनारों पर प्रथम फेज आइआइएम रोड से शहीद पथ तक नया बंधा एवं उसके चौड़ीकरण तथा उसके ऊपर सड़क निर्माण किया जाएगा. दरअसल, फेज एक के कामों को तीन भागों में बांटा गया है. ऐसा परियोजना के कार्यों को शीघ्र प्रारंभ करने के लिए किया गया है.

लखनऊ में बारिश के बाद भारी जलजमाव, आक्रोशित लोग सड़क पर उतरे, फैजाबाद रोड जाम

उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी के मुताबिक, टाटा कन्सलटिंग इंजीनियर्स द्वारा प्रस्तुत की गई भाग-एक की डीपीआर के तहत होने वाले कार्यों की कुल लागत 817 करोड़ रूपये है. उन्होंने आगे बताया कि इसके अंतर्गत आइआइएम रोड से लाल ब्रिज तक गोमती नदी के दोनों किनारों पर लगभग सात किमी. लंबा बंधा निर्माण/चैड़ीकरण तथा उसके ऊपर फोर लेन सड़क का निर्माण प्रस्तावित है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें