पशुधन फर्जीवाड़ा मामले में मंत्री के निजी सचिव समेत 10 लोगों के खिलाफ चार्टशीट

Smart News Team, Last updated: 11/09/2020 02:09 PM IST
  • आटे की सप्लाई का ठेका दिलाने के नाम पर पशुपालन विभाग में हुए फर्जीवाड़े में पशुधन राज्यमंत्री के प्रधान निजी सचिव रजनीश दीक्षित समेत 10 लोगों के खिलाफ चार्टशीट दाखिल कर दिया गया है. इस फर्जीवाड़े में दो डीआईजी अरविंद सेन और दिनेश चन्द्र दुबे को पहले ही निलंबित किया जा चुका है.
पशुधन फर्जीवाड़ा मामले में मंत्री के निजी सचिव समेत 10 लोगों के खिलाफ चार्टशीट.

लखनऊ. यूपी में आटे की सप्लाई का ठेका दिलाने के नाम पर पशुपालन विभाग में हुए फर्जीवाड़े में पशुधन राज्यमंत्री के प्रधान निजी सचिव रजनीश दीक्षित समेत 10 लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल कर दिया गया है. फिलहाल सभी आरोपी जेल में हैं. इस फर्जीवाड़े में दो डीआईजी अरविंद सेन और दिनेश चन्द्र दुबे को पहले ही निलंबित किया जा चुका है. इस फर्जीवाड़े में और कई लोगों के खिलाफ भी सबूत मिले हैं. दावा किया जा रहा है कि उन्हें भी जल्द ही गिरफ्तार किया जा रहा है.

योगी का बड़ा फैसला, UP में रिटायरमेंट से 1 साल पहले जिले से हटेंगे PCS, PPS अफसर

बता दें कि इंदौर के व्यापारी मंजीत सिंह भटिया ने 9 करोड़ 72 लाख रुपये के इस फर्जीवाड़े की एफआईआर इसी साल 13 जून को लखनऊ के हजरतगंज कोतवाली में दर्ज कराई थी. फिर मुख्यमंत्री से शिकायत की इसके बाद पूरे मामले की जांच एसटीएफ ने की थी. जांच हुई तो आरोप सही पाए गए और एफआईआर दर्ज करने का आदेश हुआ. इस मामले में 15 जून को ही एसटीएफ ने पशुधन राज्यमंत्री के प्रधान निजी सचिव रजनीश दीक्षित, निजी सचिव ललित देव, पत्रकार आशीष राय, एके राजीव, अनिल राय, उमाशंकर और रूपक राय को गिरफ्तार किया था. इस गिरफ्तारी के सात दिन बाद इन लोगों के मददगार रहे सचिन वर्मा और त्रिपुरेश पाण्डेय फिर होमगार्ड रघुबीर को भी गिरफ्तार कर लिया गया. इस मामले एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव ने इन सभी के खिलाफ चार्जशीट कोर्ट में दाखिल कर दी.

छात्रों की करतूत, टीचर की फोटो खींच मोबाइल नंबर समेत किया इंस्टाग्राम पर वायरल

पुलिस को जांच में इन लोगों के खिलाफ सबूत पहले ही मिल गए थे. लेकिन सचिवालय में तैनात होने की वजह से प्रधान निजी सचिव रजनीश व होमगार्ड रघुबीर के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने से पहले अभियोजन की स्वीकृति लेनी थी. इसके लिए शासन को पत्र भेज दिया गया था. अब इस मामले में सचिवालय से चार्जशीट लगाने की अनुमति मिल गई है. पुलिस अब जल्दी ही आगे की कार्रवाई करेगी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें