लखनऊ: भारत बंद के समर्थन में दुकानें बंद कराने पर दरोगा निलंबित

Smart News Team, Last updated: 09/12/2020 12:10 AM IST
  • लखनऊ सरोजनीनगर के बदालीखेड़ा में दरोगा रामसुधार यादव ने व्यापारियों पर दुकानें बंद करने का दबाव डाला. इससे जुड़ा वीडियो व्यापारियों ने बना कर वॉयरल कर दिया. डीसीपी मध्य ने किया निलंबित.
भारत बंद के समर्थन में दुकानें बंद कराने पर दरोगा निलंबित

लखनऊ: कृषि कानूनों के विरोध में बुलाए गए भारत बंद का हवाला देकर सरोजनीनगर के बदालीखेड़ा में दरोगा रामसुधार यादव ने व्यापारियों पर दुकानें बंद करने का दबाव डाला. इससे जुड़ा वीडियो व्यापारियों ने बना कर वॉयरल कर दिया. दरोगा की हरकत के बारे में जानकारी मिलने पर डीसीपी मध्य सोमेंद्र वर्मा ने एसीपी हजरतगंज राघवेंद्र मिश्रा को जांच सौंपी थी. जिसमें दरोगा रामसुधार यादव द्वारा जबरन दुकान बंद कराए जाने की पुष्टि हुई. एसीपी की रिपोर्ट के आधार पर दरोगा को डीसीपी मध्य ने निलंबित करते हुए विभागीय जांच के आदेश दिए हैं.

सपा के नेताओं पर प्रशासन ने मुकदमा दायर करने की दी धमकी

देशव्यापी किसान आन्दोलन की कड़ी में भारत बन्द को लेकर सपा नेता संदीप मिश्रा के आवास पर समाजवादी नेत भारत बंद के समर्थन में रणनीति बन रहे थे, तभी अचानक थाना प्रभारी चेतगंज मय फ़ोर्स संदीप मिश्र के आवास पर आ गये. मौके पर मौजूद समाजवादी क्रांतिकारी नेता रविकांत विश्वकर्मा,पूर्व पार्षद संदीप मिश्रा, संदीप यदाव, मुकेश भगवानदास समेत कई नेताओं को नज़र बन्द कर दिया गया प्रशासन ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि घर से बाहर निकलोगे तो मुकदमे लादकर जेल भेज देंगे.

3209 नलकूप चालकों को कल नियुक्ति पत्र सौपेंगे सीएम योगी

दरअसल देशव्यापी किसान आंदोलन के तहत भारत बंद के दौरान सुबह और सोमवार की रात में ही जिले के सपा और कांग्रेस के नेताओं को पुलिस ने उनके घर पर ही नजर बंद कर दिया. कई लोगों को पुलिस ने उनके घर से निकलने पर रोक लगा दी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि किसी भी हाल में आम आदमी को कोई परेशानी न हो. साथ ही उन्होंने जबरन दुकान बंद करवाने वालों पर सख्ती के निर्देश भी दिए हैं. अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी ने कहा कि मुख्यमंत्री का साफ़ निर्देश है कि भारत बंद के दौरान जबरन दुकान-प्रतिष्ठान को बंद करवाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए.

स्मार्ट सिटी में सरकारी मॉल बनाने का प्रस्ताव, कमिश्नर लेंगे फैसल

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें