प्रदूषण में देश में नंबर 1 नवाबों का शहर लखनऊ, कानपुर में सुधरी आबोहवा

Smart News Team, Last updated: Wed, 30th Sep 2020, 11:33 PM IST
  • बुधवार को जारी हुए केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़े प्रदेश की राजधानी लखनऊ के लिए अच्छे नहीं है. इन आंकड़ों के अनुसार, लखनऊ प्रदेश का नहीं पूरे देश का सबसे प्रदूषित शहर है. कानपुर में प्रदूषण फिलहाल बहुत कम है.
बुधवार को जारी हुए CPCB के आंकड़े के अनुसार लखनऊ देश का सबसे प्रदूषित शहर है.

लखनऊ. बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच लखनऊ के लिए एक और बुरी खबर आई है. लखनऊ पूरे देश का सबसे प्रदूषित शहर बन गया है. केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने बुधवार को अपने आंकड़े जारी किए. जिसके अनुसार गंदगी के मामले में राजधानी लखनऊ नंबर वन है. अच्छी बात ये है कि कानपुर में काफी कम प्रदूषण है.

बुधवार की शाम को जारी हुए इन आंकड़ों के अनुसार लखनऊ का एयर क्वालिटी इंडेक्स 252 पहुंच गया है. लखनऊ के बाद उत्तर प्रदेश का सबसे प्रदूषित शहर वाराणसी है. वाराणसी का एक्यूआई 235 है वहीं कानपुर का एक्यूआई सिर्फ 135 है. इसी वजह से कानपुर अभी येलो जोन में है जबकि वाराणसी और लखनऊ ओरेंज जोन में हैं.

योगी सरकार ने आठ सीएमओ के तबादले किए, डॉ. संजय भटनागर लखनऊ के नए CMO

राजधानी लखनऊ के तालकटोरा, लाल बाग और सेंट्रल स्कूल सबसे ज्यादा प्रदूषित इलाके है. ये रेड जोन में हैं और इन सबका एक्यूआई 300 को पार कर गया है. लखनऊ में सबसे कम प्रदूषित इलाका गोमतीनगर है. गोमतीनगर की एयर क्वालिटी इंडेक्स 133 रही. कहा जा रहा है कि शहर की हवा से ऐसी ही खराब होती रही तो सबसे ज्यादा दिक्कत इलर्जी, अस्थमा और कैंसर मरीजों को होगी.

कार में घूमकर लगवाते थे IPL में सट्टा, लखनऊ पुलिस ने दो बुकी अरेस्ट किए

शहर में प्रदूषण हद से ज्यादा बढ़ता जा रहा है क्योंकि शहर में धड़ल्ले से बिल्डिंग का निर्माण हो रहा है लेकिन कोई भी बिल्डिंग ढंकी हुई नहीं है. बिल्डिंग का निर्माण करते समय ग्रीन जाली से कवर करना था लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है. इसके अलावा सफाई कर्मचारी कूड़ा जला रहे हैं जिससे प्रदूषण हो रहा है. विशेषज्ञों की माने तो प्रदूषण से कोविड-19 के दौर में लोगों को और दिक्कत होगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें