KGMU में वैक्सीन के दोनों डोज लेने के बाद भी VC समेत 40 डॉक्टर पॉजिटिव

Smart News Team, Last updated: 07/04/2021 06:15 PM IST
  • लखनऊ के केजीएमयू के कुलपति डॉ. विपिन पुरी और चिकित्सक अधीक्षक हिमांशु समेत 40 डॉक्टर्स कोरोना संक्रमित पाए हैं. ये सभी डॉक्टर कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज को ले चुके हैं. ज्यादातर डॉक्टरों ने 25 मार्च को टीका की दूसरी खुराक ली थी.
लखनऊ के केजीएमयू में वाइस चांसलर समेत 40 डाॅक्टरर्स कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है. प्रदेश की राजधानी लखनऊ में किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी केजीएमयू के कुलपति डॉ. विपिन पुरी और चिकित्सक अधीक्षक हिमांशु समेत 40 डॉक्टरों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. मिली जानकारी के मुताबिक, कोरोना संक्रमित होने वाले सभी डॉक्टर्स कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके हैं.

बताया जा रहा है कि केजीएमयू के सर्जरी डिपार्टमेंट में 20 डॉक्टर कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. वहीं यूरोलाॅजी विभाग में 9 डॉक्टर्स की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है. क्रिटिकल केयर मेडिसिन डिपार्टमेंट में भी तीन डॉक्टर कोरोना वायरस की चपेट में आए हैं. इसके अलावा एक चिकित्सक स्टाफ के भी कोरोना संक्रमि होने की पुष्टि हुई है. इससे पहले सोमवार को लखनऊ यूनिवर्सिटी के शिक्षक बीके शुक्ल समेत पुलिस लाइन चीफ फार्मास्टि आरके चौधरी की कोरोना से मौत हो गई है.

लखनऊ: KGMU के हर डिपार्टमेंट में स्क्रीनिंग शुरू, 30 स्टाफ मेंबर निकले थे कोरोना

केजीएमयू के कुलपति समेत 40 डॉक्टरों को कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद भी कोविड-19 हो गया है. केजीएमयू में संक्रमित ज्यादातर डॉक्टरों ने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज 25 मार्च को ली थी. यूपी के अस्पतालों के डॉक्टरों और कर्मचारियों को कोरेाना संक्रमित होने का सिलसिला शुरू हो गया है. दो दिनों में बलरामपुर के सीएमएस और एमएस, दो अन्य डॉक्टर, नर्सें, 3 टेक्निकल कर्मी समेत 10 कर्मचारी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.

कोरोना के बढ़ते मामले पर मायावती ने सरकार पर साधा निशाना, नियमों के उल्लंघन को बताया चिंताजनक

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 5 हजार 895 नए मामले सामने आए हैं. वहीं 1 हजार 176 लोग पूरी तरह से ठीक होकर घर लौट चुके हैं. पिछले 24 घंटे में प्रदेश में कोरोना की वजह से 30 लोगों की जान चली गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें