निजी मकान पर होर्डिंग लगाने से पहले पढ़ें यह खबर, नगर निगम से अहम कागज लेना जरूर

Smart News Team, Last updated: Sat, 7th Aug 2021, 12:31 PM IST
  • अगर आप लखनऊ में रहते हैं और आपके घर या इमारतों पर लगी है होर्डिंग तो उतार दें. क्योंकि राजधानी लखनऊ में निजी भवन पर प्रचार की होर्डिंग के लिए आपको नगर निगम से लाइसेंस बनवाना जरूरी है. अगर आपने लाइसेंस फीस जमा नहीं की है तो इसे फिर गृह कर में जोड़ दिया जाएगा.
लखनऊ निजी मकान पर होर्डिंग लगाने के लिए नगर निगम से लाइसेंस जरूरी

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के राजधानी लखनऊ में निजी मकान पर लगने वाले होर्डिंग को लेकर एक आदेश आ गया है. इस आदेश के अनुसार अब किसी के निजी मकान पर अगर प्रचार की होर्डिंग लगी है तो उस मकान मालिक को शुल्क देना होगा. क्योंकि निजी मकान पर होर्डिंग लगवाने के लिए नगर निगम के लाइसेंस जरूरी हैं. अगर मकान मालिक लाइसेंस फीस नहीं जमा कर पाता है तो इसे गृह कर में जोड़ दिया जाएगा.

अब कोई भी मकान मालिक अपनी छत पर प्राचर के लिए होर्डिंग लगाता है तो उसे पहले नगर निगम की अनुमति लेनी होगी. पहले नगर निगम इसकी वसूली विज्ञापन एजेंसियों से करता था लेकिन अब मकान मालिकों से इसका फीस शुल्क लिया जाएगा. इसके साथ ही पहले जो लोग किसी के मकान पर प्रचार होर्डिंग लगा देते थे अब वह मकान मालिक की अनुमति से ऐसा करेंगे. इसकी जिम्मेदारी मकान मालिक की होगी कि उसे अपने मकान पर होर्डिंग लगवाना है या नहीं.

नगर निगम प्रशासन की तरफ से जारी हुए इस आदेश के बाद अब विज्ञापन कर की जगह विज्ञापन अनुज्ञा शुल्क मकान मालिकों से वसूला जाएगा. अब इस आदेश के बाद लखनऊ में होर्डिंग लगे सभी भवन, बिल्डिंग मालिकों को अनुज्ञा शुल्क देना होगा. लखनऊ नगर निगम के अनुसार 3000 मकान मालिक इस दायरे में आएंगे. क्योंकि सर्वे के अनुसार लखनऊ में 3000 ऐसे मकान हैं जहां होर्डिंग लगी होती और इसके साथ ही 1 हजार मकानों के चिन्हित भी किया गया है.

योगी सरकार की बड़ी तैयारी, इस क्षेत्र में 4 लाख नौकरी देने का रखा लक्ष्य

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें