नेशनल पीजी कॉलेज का आदेश- सेमेस्टर परीक्षाएं में छात्र दिखाएं वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र

Haimendra Singh, Last updated: Wed, 29th Dec 2021, 9:11 AM IST
  • नेशनल पीजी कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर देवेंद्र सिंह ने आदेश दिया है कि 5 जनवरी से तीसरे और पांचवें सेमेस्टर की परीक्षाओं में शामिल हो रहे छात्रों को वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट देना होगा. जिन छात्रों के अभी तक टीकाकरण नहीं हुआ है उनके लिए अलग कमरे में परीक्षा कराने की व्यवस्था की जाएगी.
नेशनल पीजी कॉलेज के छात्रों को सेमेस्टर परीक्षाएं में शामिल होने के लिए देना होगा वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट.( सांकेतिक फोटो)

लखनऊ. देशभर में कोरोना वायरस के नए वेरिएंड ‘ओमिक्रोन’ के मामले तेजी से बढ़ रहे है. वायरस के खतरे को देखते हुए नेशनल पीजी कॉलेज(National PG College) ने फैसला किया है कि सेमेस्टर परीक्षाएं में शामिल होने के लिए छात्र-छात्राओं को कोरोना वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र देना होगा. इसके अलावा छात्र-छात्राओं को कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करना होगा. बता दें कि कॉलेज में 5 जनवरी से यूजी की तीसरे और पांचवें सेमेस्टर की परीक्षाएं शुरू हो रही है. तीसरे और पांचवें सेमेस्टर की परीक्षाओं में लगभग 2500 छात्र-छात्राएं शामिल होंगे.

नेशनल पीजी कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर देवेंद्र सिंह ने कहा है कि दिसंबर के पहले सप्ताह तक कॉलेज के 84 फीसदी छात्रों का वैक्सीनेशन हो चुका है. यदि अगर किसी भी छात्र के पास वैक्सीनेशन नहीं कराने का कोई कारण है तो ऐसे छात्र को अन्य छात्रों से दूर अलग कमरे में परीक्षा दिलाई जाएगी. कॉलेज प्रशासन ने छात्रों की परेशानियों को देखते हुए यह कदम उठाने के फैसला किया है. प्रशासन का कहना है कि परीक्षा में शामिल होने वाले सभी छात्रों की आयु 18 साल से ऊपर है इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि सभी छात्रों का वैक्सीनेशन हो गया होगा ऐसे में उन छात्रों को प्रमाण पत्र देने में कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए.

कोरोना Omicron के खौफ के बीच यूपी में 8वीं तक स्कूल 31 दिसंबर से 14 जनवरी तक बंद

कोरोना गाइडलाइन का करना होगा पालन

प्राचार्य देवेंद्र सिंह परीक्षा में शामिल होने वाले सभी छात्रों को कोरोना गाइडलाइन के नियमों का पालन करना होगा. प्रशासन ने बताया कि दिसंबर के पहले सप्ताह तक कॉलेज में कराए गए सर्वे में पता चला था कि कॉलेज के 84 प्रतिशत छात्रों का वैक्सीनेशन हो चुका है. प्रशासन का कहना है छात्रों को परीक्षा में शामिल होने के लिए मास्क का प्रयोग करना होगा. बिना मास्क के परीक्षा कक्ष में प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें