लखनऊ: CAA विरोध प्रदर्शन हिंसा मामले में PFI का पदाधिकारी गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 28/08/2020 11:58 AM IST
  • लखनऊ के कृष्णानगर पुलिस ने PFI संगठन के लीगल इंचार्ज दिलशाद को गिरफ्तार कर लिया है. उसे पकरी पुल के पास पुलिस ने गिरफ्तार किया है. सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का आरोप.
FILE PHOTO

लखनऊ. गुरुवार को लखनऊ के कृष्णानगर पुलिस ने पीएफआई संगठन के लीगल इंचार्ज दिलशाद को गिरफ्तार कर लिया है. जानकारी के अनुसार पीएफआई संगठन के सदस्यों ने सीएए के विरोध में यूपी सहित देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन किया था. दिलशाद को पकरी पुल के पास से पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस ने बताया कि दिलशाद आजादनगर नूरानी मस्जिद का निवासी है. बताया जा रहा है कि आरोपी दिलशाद ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्मो के माध्यम से साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश की थी. आरोपी दिलशाद बीएसएसी पास है. वह पीएफआई की विचारधारा से जुड़े राजनीतिक संगठन एसडीपीआई का भी सदस्य है. 

मुख्तार अंसारी और दो बेटों पर केस दर्ज, इमारत ढहाने का खर्च वसूलेगी योगी सरकार

जानकारी के अनुसार पुलिस ने आरोपी दिलशाद के बारे में बताया कि उसका काम संगठन की विचारधारा काे सोशल मीडिया पर प्रचार-प्रसार करता था. वो सोशल मीडिया का प्रयोग युवाओं से जुड़ने के लिए करता था, ताकि उन्हें संगठन से जोड़ा जा सका. जानकारी के अनुसार पुलिस आरोपी दिलशाद के मोबाइल, कम्यूटर की जांच कर रही है.

नीट जेईई परीक्षा आयोजन और केंद्र के खिलाफ आज कांग्रेस करेगी देशव्यापी प्रदर्शन

गौरतलब है कि लखनऊ में 19 दिसंबर 2019 को हजरतगंज, हसनगंज और ठाकुरगंज में सीएए के विरोध में प्रदर्शन हुआ था. बताया जा रहा है कि इसकी योजना पीएफआई के सदस्यों ने बनाई थी. इस मामले में लखनऊ पुलिस ने हिंसा फैलाने वाले लोगों पर सख्त कार्रवाई की थी. पुलिस ने इस मामले में दिसंबर 2019 में पीएफआई के कोषाध्यक्ष सहित तीन लोगों की गिरफ्तारी की थी. बताया जा रहा है कि इस संगठन से जुड़े 150 से अधिक लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस मामले की जांच में लगी हुई है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें