लखनऊ: 15 अगस्त के विरोध में वायरल फोन कॉल ऑडियो पर FIR, पुलिस कमिश्नर बोले..

Smart News Team, Last updated: 08/08/2020 04:53 PM IST
  • लखनऊ में वायरल हो रही एक फोन कॉल ऑडियो में यूसुफ अली नाम का एक शख्स 15 अगस्त पर सांप्रदायिक माहौल को बिगाड़ने की बात कर रहा है. वीडियो पर संज्ञान लेते हुए लखनऊ पुलिस कमिश्नर मामले में एफआईआर के आदेश दिए हैं.
लखनऊ: 15 अगस्त के विरोध में वायरल फोन कॉल ऑडियो पर FIR

लखनऊ. 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के मौके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हिंदुस्तानी परचम फहराने से रोकने की बात कहने वाली एक ऑडियो क्लिप लखनऊ में वायरल हो गई. यह ऑडियो एक फोन कॉल की है. संदिग्ध आवाज में बोल रहे एक मुस्लिम व्यक्ति की यह कॉल लखनऊ के कई पत्रकारों समेत काफी लोगों के पास आई. मामले की सूचना पुलिस को दी गई. लखनऊ पुलिस कमिश्नर ने मामले में सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं.

गौरतलब है कि आजादी का जश्न दिन देशभर में मनाया जाएगा उस दिन देश को बांटने से संबंधी वॉयरल ऑडियो पर पुलिस कमिश्नर सुजीत पाण्डेय काफी सख्त नजर आए. उन्होंने हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज करने के निर्देश दिए हैं.

कानपुर के कुख्यात अपराधी विकास दुबे के साथी उमाकांत शुक्ला ने किया सरेंडर

यह वायरल कॉल किसी यूसुफ अली के नाम के शख्स की ओर से की जाती है. हर बार एक ही तरह के बोलने से साफ जाहिर होता है कि ऑडियो पहले से रिकॉर्ड कर कॉल पर चलाई जा रही है. ऑडियो में सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने कोशिश करने वाला युसुफ अली कौन है यानि इसके पीछे किसका हाथ, यह कुछ जानकारी अभी नहीं सामने आई है.

मेरठ में वीकेंड पर शराब ठेके खुलने के खिलाफ महिलाएं सड़क पर भजन-कीर्तन को उतरीं

यूसुफ अली नाम का शख्स कॉल पर मुस्लिम समाज के लोगों से नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ एकजुट होने को कह रहा है. साथ ही वह कहता है कि 15 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को परचम नहीं फहराने देंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें