क्राइम ब्रांच की कार्रवाई- ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी करते 2 आरोपी अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: 04/05/2021 04:30 PM IST
  • इंस्पेक्टर के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपी बडे़ ऑक्सीजन के बदले में 32 हजार रूपए तक वसूलते थे. दोनों आरोपियों के पास से पुलिस ने तकरीबन 81 सिलेंडरों की बरामदगी की है. पुलिस ने दोनों के खिलाफ महामारी अधिनियम, साजिश रचने और कालाबाजारी करने की धारा में मुकदमा दर्ज किया कर लिया है.
आरोपियों के खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया कर लिया है. (प्रतिकात्मक फोटो)

लखनऊ- देश के साथ-साथ उत्तर प्रदेश में भी कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी है. लगातार हॉस्पिटलों से जहां खराब स्वास्थ्य सुविधाओं की खबर आ रही है, वहीं ऑक्सीजन सिलेंडरों की कालाबाजारी के मामलों में भी तेजी से बढ़ोतरी हुई है. ताजा मामला राजधानी लखनऊ का है. जहां गुड़ंबा पुलिस ने सोमवार देर रात क्राइम ब्रांच की मदद से आक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी करने वाले 2 शख्श को गिरफ्तार किया है.

इंस्पेक्टर फरीद अहमद के मुताबिक, विश्वजीत गुप्ता और विकास कुमार नामक शख्श के बारे में पुलिस को सूचना मिली. पुलिस ने इस सूचना के आधार पर दोनों को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में पता चला कि विश्वजीत के पास आक्सीजन सप्लाई की एजेंसी है. मौजूदा कोरोना काल में ऑक्सीजन की किल्लत से लोगों को दो-चार होना पड़ रहा है. इस हालात का फायदा उठाकर दोनों आरोपी भारी कीमत वसूलकर सिलेंडरों की कालाबाजारी कर रहे थे.

CM योगी का बड़ा फैसला, पत्रकारों को कोरोना वक्सीनशन में मिलेगी प्राथमिकता

इंस्पेक्टर के मुताबिक, गिरफ्तार आरोपी बडे़ ऑक्सीजन के बदले में 32 हजार रूपए तक वसूलते थे. दोनों आरोपियों के पास से पुलिस ने तकरीबन 81 सिलेंडरों की बरामदगी की है. पुलिस ने दोनों के खिलाफ महामारी अधिनियम, साजिश रचने और कालाबाजारी करने की धारा में मुकदमा दर्ज किया कर लिया है.

यूपी के CM योगी को जान से मारने की धमकी, वाट्सएप पर लिखा- सीएम के पास बस 5 दिन

लखनऊ सर्राफा बाजार में बढ़त के साथ खुला सोना, चांदी रही स्थिर, मंडी भाव

कोरोना के मामलों में जल्द आएगी कमी, जानें कब लखनऊ, कानपुर को मिलेगी राहत

पेट्रोल डीजल 4 मई का रेट: लखनऊ, आगरा, मेरठ, वाराणसी, प्रयागराज, गोरखपुर, कानपुर में बदले तेल की कीमत

CM योगी का बड़ा ऐलान- स्वास्थ्य विभाग के फ्रंटलाइन वर्कर्स को 25% ज्यादा सैलरी

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें