पश्चिमी यूपी के बाद अब लखनऊ में दिखे 'घर बिकाऊ है' के बोर्ड, पढ़िए इनकी तकलीफ

Smart News Team, Last updated: Fri, 4th Jun 2021, 2:22 PM IST
  • लखनऊ के महानगर इलाके में अवारा लोगों ने परेशान होकर काला कांकर कॉलोनी के लोगों ने अपने घरों के बाहर मकान बिकाऊ है के पोस्टर लगा रखे है. कॉलोनी के लोगों ने एक अवैध कॉलोनी के लोगों पर आरोप लगाया है. पश्चिम उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में कुछ साल पहले इस तरह के मकान बिकाऊ है के पोस्टर लगे थे.
लखनऊ की पॉश कालोनी काला कांकर में लोगों ने परेशान होकर लगाए मकान बिकाऊ है के पोस्टर. (फोटो - ANI )

लखनऊ. लखनऊ के महानगर इलाके की पॉश कालोनी काला कांकर मोहल्ले के निवासियों ने अपने घरों पर 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगा रखे है. लोगों का आरोप है कि कॉलोनी के पीछे रहने वाले अवारा लड़के आए दिन कालोनी में झुंड बनाकर घुमते रहते है. लड़कों का यह झुंड कॉलोनी की महिलाएं और लड़कियों से छेड़छाड़ भी करते रहते हैं. शिकायत करने पर सभी झगड़ा करने लगते है. इन लोगों की कई बार शिकायत की गई है लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई. 

कॉलोनी के लोगों ने परेशान होकर अपने घरों के बाहर 'मकान बिकाऊ है' के पोस्टर लगा दिए हैं. आज दोपहर दो बजे नगर आयुक्त कालाकांकर में नाले पर अवैध कब्जे का निरीक्षण करने पहुंचेंगे. बता दें कि पश्चिम उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में कुछ साल पहले इस तरह के मकान बिकाऊ है के पोस्टर लगे थे. काला कांकर में रहने वाले जय अरोड़ा ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई को बताया, कि हमारी कॉलोनी के पीछे रहने वाले लोगों ने अवैध रुप से कॉलोनी बना ली है. यहां से युवा लड़के हमारी कॉलोनी में घूमते रहते हैं. वे अश्लील इशारे करते हैं और लड़कियों और महिलाओं को चिढ़ाते हैं और अगर कोई विरोध करता है, तो वे बड़ी संख्या में आते हैं और यहां हंगामा करते हैं. 

लखनऊ एयरपोर्ट के बढ़े चार्ज पर अडानी ग्रुप ने बताई ये वजह , जानिए

उन्होंने कहा कुछ दिन पहले अवैध कॉलोनी के कुछ लोगों ने हमारी कॉलोनी में एक छोटा सा शिव मंदिर बनवाने की कोशिश की थी हंगामे के बाद यहां पीएसी के जवानों को तैनात किया गया है. कुछ समय पहले मेरठ और सहारनपुर से भी इस तरह की खबरें सामने आई थी. अपनी समस्याओं के कारण कई बार बड़ी संख्या में घरों के बाहर ऐसे पोस्टर देखे गए हैं.

कॉलोनी के लोगों ने भी मिलकर कई बार इन लोगों को समझाने का प्रयास किया है. लेकिन ये लोग मानते ही नहीं. हमने सुरक्षा के लिए घरों के बाहर सीसीटीवी कैमरे भी लगाए है. ये लोग सभी कैमरे को तोड़ देते है. इसी समस्या को देखते हुए कॉलोनी के कुछ लोग पहले ही चुपचाप अपना मकान बेचकर जा चुके है. स्थानीय लोगों ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें