लखनऊः जेल में कैदी ने ब्लेड से काटा अपना गला, इलाज के दौरान चकमा देकर केजीएमयू से फरार

Sumit Rajak, Last updated: Thu, 27th Jan 2022, 7:22 AM IST
  • जिला जेल में गला काटने वाला हत्या का आरोपी बन्दी सत्यवीर सिंह बुधवार को पेशाब जाने का बहाना करके केजीएमयू से भाग निकला. वह सर्जरी वार्ड में भर्ती था. उसने 18 जनवरी को जिला जेल में किसी नुकीली चीज से अपना गला काट लिया था. हालत गंभीर होने पर उसे पहले बलरामपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वहां हालत गंभीर होने पर उसे केजीएमयू में रेफर किया गया था.
कैदी फरार (प्रतीकात्मक फोटो)

लखनऊ. जिला जेल में गला काटने वाला हत्या का आरोपी बन्दी सत्यवीर सिंह बुधवार को पेशाब जाने का बहाना करके केजीएमयू से भाग निकला. वह सर्जरी वार्ड में भर्ती था. उसने 18 जनवरी को जिला जेल में किसी नुकीली चीज से अपना गला काट लिया था. हालत गंभीर होने पर उसे पहले बलरामपुर अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वहां हालत गंभीर होने पर उसे केजीएमयू में रेफर किया गया था. पुलिस ने फरार बन्दी सत्यवीर सिंह एवं सुरक्षा में लापरवाही बरतने वाले दोनों सिपाहियों के खिलाफ लापरवही बरतने का मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस की तीन टीम तलाश में लगाई गई हैं.

कैदी सत्यवीर केजीएमयू के सर्जरी वार्ड में 19 जनवरी से भर्ती था. 18 जनवरी की रात को गला काट लिया था. इसके बाद उसे बलरामपुर में भर्ती कराया गया था. बलरामपुर में ऑपरेशन के बाद देर रात केजीएमयू रेफर कर दिया गया था. केजीएमयू के सर्जरी वार्ड में भर्ती था. उसकी सुरक्षा में महानगर कोतवाली के सिपाही रवि कुमार और आशियाना थाने के सिपाही योगेश को तैनात थे.

RRB-NTPC: पटना पुलिस की हॉस्टलों में रेड, खान सर समेत कई कोचिंग संचालकों पर FIR

बुधवार सुबह करीब 6ः30 बजे बन्दी ने पेशाब जाने की बात कहकर वार्ड से बाहर गया. काफी तलाश के बाद भी जब उसका पता न चला तो मामले की जानकारी सिपाहियों ने अधिकारियों को दी. इसके बाद सत्यवीर के खिलाफ देर शाम मुकदमा दर्ज किया गया. फिर दोनों सिपाहियों के खिलाफ लापरवाही बरतने की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया. सत्यवीर हत्या के मामले में 18 नवंबर 2018 से जेल में था. सत्यवीर के खिलाफ विभूतिखंड थाने के अलावा गोंडा जनपद के अलावा कई अन्य थानों में भी मुकदमे दर्ज हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें