किसान खाप पंचायत के प्रतिनिधियों ने सीएम योगी से की मुख्यमंत्री आवास पर मुलाकात

Smart News Team, Last updated: 06/03/2021 03:15 PM IST
  • शनिवार को भाजपा विधायक उमेश मलिक के नेतृत्व में किसान खाप पंचायत के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की. प्रतिनिधियों ने प्रदेश में होने वाली किसानों की सम्स्याओं से सीएम को अवगत कराया.
खाप पंचायत के प्रतिनिधियों ने सीएम योगी से की मुलाकात.( फाइल फोटो )

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किसान खाप पंचायत के प्रतिनिधियों से शनिवार को मुख्यमंत्री आवास पर मुलाकात की. बड़ी तादाद में मुख्यमंत्री से मिलने पहुंचे खाप पंचायत के प्रतिनिधियों ने प्रदेश के किसानों को होने वाली समस्याओं से सीएम को अवगत कराया. इस बैठक में मुख्यमंत्री के अलावा भाजपा के सांसद और विधायक भी मौजूद थे.

किसान खाप पंचायत के प्रतिनिधियों का नेतृत्व बुढ़ाना, मुजफ्फरनगर से भाजपा विधायक उमेश मलिक ने किया. इससे पहले शुक्रवार को प्रतिनिधियों ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और पंचायतीराज मंत्री भूपेन्द्र सिंह चौधरी से भी मुलाकात की थी. देशभर में चल रहे किसानों आंदोलन को लेकर खाप पंचायत प्रतिनिधियों के इस मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है. पश्चिमी यूपी के किसानों बिजली की बढ़ती कीमतों से परेशान है.

CM योगी आदित्यनाथ ने UPPTCL के लिए 1,920 करोड़ रुपए की लागत के 27 उपकेंद्रों का किया लोकार्पण

प्रतिनिधियों ने कहा, कि पश्चिमी यूपी में बिजली की बढ़ी दरें, गन्ना मूल्य मुल्य के भुगतान में देरी और गन्ना की कीमतों में इजाफा नहीं होने से किसान परेशान है. मीटिंग में एक प्रतिनिधि ने कहा जैसे सरकार ने राजकीय नलकूपों और नहरों की सिचाई को मुफ्त किया है, वैसे ही निजी टयूबवैल को मुफ्त या सस्ती कीमतों पर बिजली क्यो नहीं मिल सकती.

200 साल का विश्वास और उच्च क्वालिटी की मिठास, अवध की नजाकत: राम आसरे स्वीट्स

किसानों का गन्ना भुगतान समय पर नहीं होने से परिवार का चलाने में समस्याएं आ रही है. उन्होंने बताया कि किसानों के गन्ने का पैसा कभी-कभी एक या दो सालों में भी आता है. उन्होंने कहा कि सरकार को किसानों की समस्याओं को समझना चाहिए.

CBSE ने 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा तारीख में किया बदलाव, जानें अब कब हैं एग्जाम

UP जल निगम को बंद करने के आदेश जारी, कर्मचारी पंचायती राज विभाग में होंगे समाहित

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें