लखनऊ: RML अस्पताल में इलाज के अभाव में महिला की मौत,सवाल करने पर परिजनों को पीटा

Smart News Team, Last updated: 06/09/2020 04:21 PM IST
  • शनिवार की रात लखनऊ की राम मनोहर लोहिया अस्पताल में एक महिला की इलाज के अभाव में मौत हो गई. महिला के बेटे का आरोप है कि जब उसने डॉक्टर से उनकी मौत का कारण पूछा तो डॉक्टर और अस्पताल कर्मियों ने उसे थप्पड़ मार दिया. इसके बाद गुस्साए परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा कर दिया.
अपनी मां की मौत के बाद अस्पताल प्रशासन की करतूत के बारे में बताता मृतक का बेटा

लखनऊ. राजधानी के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में इलाज के अभाव में एक महिला की जान चली गई. महिला की मौत से गुस्साए परिजनों ने शनिवार रात अस्पताल में जमकर हंगामा किया. महिला के परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर इलाज में लापरवाही बरतने और उनके साथ मारपीट करने का भी आरोप लगाया है.

आपको बता दें कि महिला सुल्तानपुर की निवासी थी और दिल की बीमारी से पीड़ित थी. शनिवार को महिला की तबीयत बिगड़ने पर परिजन इलाज़ के लिए उसे देर रात लोहिया हॉस्पिटल लेकर पहुंचे. अस्पताल में सैनिटाइजेशन का काम चल रहा था. जिसके चलते डॉक्टरों ने परिजनों को थोड़ा इंतजार करने को कहा.

लखनऊ: गायत्री प्रजापति जिस रेप केस में आरोपित उसमें एक और आरोपी गिरफ्तार

मृतक के का आरोप है कि उसकी मां को घंटों तक अस्पताल में कोई इलाज नहीं मिला। इसके बाद मिन्नतें करने के बाद डॉक्टर ने उन्हें एक इंजेक्शन लगाया जिसके बाद उसकी मौत हो गई. मृतक के बेटे का यह भी आरोप है कि जब उसने डॉक्टर से अपनी मां की मृत्यु का कारण पूछा तो डॉक्टरों और अस्पताल कर्मियों ने उसे थप्पड़ मार दिया.

लखनऊ: 7 सितबंर से केजीएमयू अस्पताल में होगा कोरोना इलाज, CM योगी करेंगे उद्घाटन

इसके बाद गुस्साए परिजनों ने अस्पताल परिसर में हंगामा कर दिया. घटना की सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों को समझाकर मामले को शांत करवाया.इसके साथ ही तनाव के चलते अस्पताल का माहौल अधिक ना बिगड़े इसके लिए पुलिस बल भी तैनात कर दिया गया है.

यूपी में कोरोना का कहर, राजधानी लखनऊ में रिकॉर्ड 1006 नए कोविड-19 केस

महिला की शव अभी अस्पताल के इमरजेंसी में रखा गया है. परिजनों पर पुलिस समझौते का दबाव भी बना रही है.इसके अलावा डॉक्टरों की लापरवाही से हुई मौत और परिजनों से मारपीट के मामले में फिलहाल अस्पताल प्रशासन ने कुछ भी नहीं कहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें