लखनऊ: यूपी में साइकल-रिक्शा के लिए भी बनेंगे सड़क सुरक्षा नियम

Smart News Team, Last updated: Thu, 11th Feb 2021, 9:52 AM IST
  • 2030 तक 50 फीसदी सड़क हादसे रोकने के लक्ष्य के साथ सरकार ने आईआईटी के प्रफेसरों को बुलाया और सड़कों की डिजाइन और गड्ढों में सुधार पर सुझाव देने को कहा।
सांकेतिक फोटो

लखनऊ : प्रदेश सरकार अगले 10 साल में सड़क हादसों की संख्या घटाकर आधी करने के लिए कदम उठाने जा रही है। योगी सरकार जल्द ही साइकल, रिक्शा, तांगा, बैलगाड़ी और आइसक्रीम ट्रॉली के लिए भी सड़क सुरक्षा के नियम बनाएगी। दूसरी ओर सरकार सड़कों की डिजाइन में सुधार व दुर्घटनाओं की वजह बनने वाले गड्ढों में सुधार करने का काम करेगी।

परिवहन निगम मुख्यालय के सभागार में बुधवार को विभाग की ओर से अंडर द मोटर वीकल संशोधित ऐक्ट 2019 के तहत आयोजित कार्यशाला में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने विचार व्यक्त किए। उन्होंने हादसों को हर हाल में कम करने के लिए कई आईआईटी विशेषज्ञों के सुझाव लागू करने के निर्देश दिए। कार्यशाला में कहा गया कि दुर्घटना वाले क्षेत्रों की सड़कों की डिजाइन को सुधारा जाना चाहिए क्योंकि 2019-2020 में सड़कों पर गड्ढों से 2892 मौतें हो चुकी हैं। अपर मुख्य सचिव ने नियमावली बनाकर वर्ष 2030 तक 50 फीसदी सड़क हादसे रोकने का लक्ष्य तय करने के निर्देश दिए। बैठक में प्रमुख सचिव परिवहन राजेश कुमार सिंह, परिवहन आयुक्त धीरज साहू, अपर पुलिस महानिदेशक (यातायात), विशेष सचिव (लोनिवि), नैशनल हाइवे,के अफसरों के साथ ही आईआईटी कानपुर, आईआईटी रुढ़की व उस्मानिया यूनिवर्सिटी के प्रफेसर भी मौजूद थे।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें