लखनऊ : गुपचुप बेच दिए अवध विहार में बसेरा योजना के फ्लैट, जांच के आदेश

Smart News Team, Last updated: 20/01/2021 10:54 AM IST
  • अवध विहार में गरीबों के लिए लाई गई बसेरा योजना के फ्लैट्स में आवंटन को लेकर धांधली समाने आई है। डिप्टी हाउसिंग कमिश्नर अनिल कुमार ने मामले की जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई के आदेश दिए हैं।
फाइल फोटो

लखनऊ: अवध विहार में गरीबों के लिए बसेरा योजना के फ्लैट्स को पहले आओ पहले पाओ के तहत आवंटित करने में धांधली सामने आई है। जांच रिपोर्ट के मुताबिक योजना से जुड़े क्लर्क और जूनियर अकाउंट अफसर योजना के करीब 100 फ्लैट्स को आवंटित दिखाते रहे, जबकि इन्हें निरस्त करने का फैसला हो चुका है। आरोप है कि इनमें से जिन फ्लैट्स के लिए डीलिंग हो जाती थी, उन्हें निरस्त दिखाते हुए पहले आओ पहले पाओ के तहत सीधे आवंटित कर देते थे, जबकि बाकी आवंटियों को फ्लैट खाली न होने की बात कह टरका देते थे।

यूपी MLC चुनाव: निर्दलीय महेश शर्मा का नामांकन रद्द, BJP-सपा की सभी सीटों पर जीत तय

भ्रष्टाचार का खुलासा सभी फ्लैट्स की रजिस्ट्री का ब्योरा मांगे जाने पर हुआ। अफसरों से हुई शिकायत के मुताबिक सभी फ्लैट्स को निरस्त दिखाते हुए पहले आओ पहले पाओ योजना के तहत आवंटित करने के बजाय अलग अलग तारीखों में चुनिंदा फ्लैट्स का आवंटन निरस्त किया गया। इसके एक सप्ताह के बाद योजना में फ्लैट की जानकारी मांगने पर कोई फ्लैट खाली न होने की बात कही जाती है। शुरुआती जांच रिपोर्ट के भीतर ही उन्हें पहले आओ पहले पाओ योजना के तहत किसी दूसरे को आवंटित कर दिया गया जबकि आवंटन निरस्त करने के एक महीने तक किसी भी दूसरे को आवंटन नहीं किया जा सकता। यही नहीं शिकायत के बाद बनी रिपोर्ट में कई फ्लैट्स की फाइलें गायब बतायी जा रही हैं। आरोप है कि योजना में 400 से 500 वर्ग फुट के मकानों को बाबुओं ने एक से डेढ़ लाख रुपए रिश्वत लेकर जिसे चाहा उसे बेचा।

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें