SIT ने की पूरी की सपा-बसपा सरकार में 137 योजनाओं की जांच, शासन को सौंपी रिपोर्ट

Smart News Team, Last updated: 20/09/2020 07:59 AM IST
  • एसआईटी (SIT) ने सपा-बसपा सरकार में पूर्वांचल के 13 जिलों में 137 विकास कार्यों में हुए घोटाले की जांच को पूरा कर लिया है. एसआईटी ने जांच रिपोर्ट शासन को सौंप दी है. केस दर्ज करने के लिए शासन से मंजूरी मांगी है.
SIT

लखनऊ. यूपी पुलिस की एसआईटी ने सपा-बसपा सरकार में पूर्वांचल के 13 जिलों में 137 विकास कार्यों में हुए घोटाले की जांच को पूरा कर लिया है. ये सभी 137 विकास कार्य राजकीय निर्माण निगम के द्वारा कराए गए थे. मिली जानकारी के अनुसार एसआईटी ने घोटालों की जांच रिपोर्ट शासन को सौंप दी है .बताया जा रहा है कि कई मामलों में एसआईटी ने दोषियों के खिलाफ केस दर्ज करके विवेचना करने के लिए शासन से मंजूरी मांगी है. लगभग 1 हजार करोड़ रुपये इन विकास कार्यों पर खर्च किए गए हैं.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक एसआईटी ने जांच रिपोर्ट में बताया है कि काम की गुणवत्ता खराब होना, तय समय में योजनाएं पूरी न होना और कुछ योजनाओं में बार-बार ठेकेदार बदले जाने और अधूरे कामों को पूरा करने के लिए आगणन को संशोधित करने का मामला भी सामने आया है. शासन से मंजूरी मिलने के बाद एसआईटी काम करवाने वाली संस्था समेत कई अधिकारियों और इंजीनियरों के खिलाफ केस दर्ज करके आगे की कार्रवाई करेगी. 

लव जिहाद पर CM योगी सख्त, धर्म बदलकर शादी करने वालों पर होगी कार्रवाई

ये सभी 137 विकास कार्य सपा और बसपा की सरकार में हुए थे. साल 2006 से 2012 के बीच सपा और बसपा की सरकार में राजकीय निर्माण निगम द्वारा कराए गए भदोही, मऊ, गाजीपुर,सोनभद्र, चंदौली, मिर्जापुर, आजमगढ़, जौनपुर, प्रयागराज, प्रतापगढ़, वाराणसी और प्रयागराज अंचल के जिलों वाराणसी और श्रावस्ती जिले में निर्माण कार्यों की जांच की जिम्मेदारी शासन ने एसआईटी को सौंपी थी. 

यूपी में आपकी गाड़ी 15 साल पुरानी हो गई तो सड़क पर निकलना पड़ सकता है महंगा

इन जिलों में राजकीय निर्माण निगम ने अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, थाना भवन आदि का निर्माण कराया था. इन कामों में बड़े पैमाने पर घोटाले की शिकायतें सामने आई थी. बता दें कि इनमें से चार मामलों की जांच हो रही है. वाराणसी अंचल के अलग-अलग जिलों में केस दर्ज करके मामले की जांच की जा रही है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें