लखनऊ: CM योगी के आदेश के बाद STF टीम ने शुरू की स्मार्ट मीटर डिस्कनेक्शन की जांच

Smart News Team, Last updated: 14/08/2020 10:13 AM IST
  • लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद एसटीएफ टीम ने स्मार्ट मीटर डिस्कनेक्शन की जांच शुरू कर दी है. इस मामले में पता लगाया जाएगा कि ये किसी ने जानबूझकर किया या किसी कारण से हुआ.
लखनऊ: CM योगी के आदेश के बाद STF टीम ने शुरू की स्मार्ट मीटर डिस्कनेक्शन की जांच

लखनऊ. सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद एसटीएफ की टीम ने स्मार्ट मीटर डिस्कनेक्शन की जांच शुरू कर दी है. गुुरुवार की शाम को एसटीएफ की टीम जांच के लिए शक्ति भवन पहुंची. एमडी एम देवराज से स्मार्ट मीटर से संंबंधित कुछ जानकारी लेने के साथ ही सबंधित दस्तावेजों की प्रति ली निदेशक कामर्शियल, स्मार्ट मीटर का काम देख रहे एक अधीक्षण अभियंता, एलएंंडटी के अधिकारियों से पूछताछ की. 

दूसरी तरफ एममडी एम देवराज ने इस मामले में ईईएसएल और एलएंडटी को नोटिस जारी किया है. लिखा है कि इतनी बड़ी लापरवाही पर क्यों ना काम छीन लिया जाए. इसके लिए दोषी कौन हैं? दोषियों के खिलाफ क्या कार्रवाई की गई यह पूछा है. बुधवार को लखनऊ समेत कई शहरों में स्मार्ट मीटर फेल होने से हाहाकार मच गया था इसी के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने एसटीएफ को लखनऊ समेत कई शहरों में स्मार्ट मीटर फेल होने से हाहाकार मच गया था इसकी जांच के आदेश दिए थे.

लखनऊ: स्मार्ट मीटर वालों की कटी बिजली, अंधेरे में गुजारी रात - सुबह पानी को तरसे

स्मार्ट मीटर डिस्कनेक्शन मामले को लेकर ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा ने सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर एसटीएफ से जांच कराने की मांग की थी. ऊर्जा मंत्री ने मुख्यमंत्री जी से बात कर घटना के दोषियों पर कठोर कार्रवाई की मांग की. सीएम योगी के आदेश के बाद एसटीएफ जांच करेगी कि इतनी संख्या में स्मार्ट मीटर आखिरकार कैसे फेल हो गए और गलत प्रोग्रामिंग कैसे अपलोड हो गई. स्मार्ट मीटर फेल होना तकनीकी खराबी थी या फिर जान-बूझकर कर ऐसा किया गया. 

लखनऊ: स्मार्ट मीटर डिस्कनेक्शन मामले में गिरी बड़े अधिकारियों पर गाज, 2 सस्पेंड

बता दें कि ऊर्जा मंत्री ने विभागीय बैठक कर सीएमडी को निर्देश देते हुए जांच और कार्रवाई कर एक सप्ताह में रिपोर्ट देने को कहा है. उर्जा मंत्री इस घटना को भृष्टाचारी अफसरों की साजिश के रूप में देख रहे हैं. क्योंकि स्मार्ट मीटर की सफलता से उगाही पर रोक लग जाएगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें