लखनऊ: कोरोना नियमों के साथ 6 महीने बाद तहसील दिवस में सुनी गई लोगों की फरियाद

Smart News Team, Last updated: 15/09/2020 06:55 PM IST
  • लखनऊ में मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर 6 महीने के बाद तहसील दिवस की सुनवाई हुई. इस दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियमों का सख्ती से पालन किया गया.
लखनऊ में आयोजित तहसील दिवस में लोगों की फरियाद सुनते अधिकारी

लखनऊ: कोरोना संक्रमण से बंद पड़े सारे काम अब धीरे-धीरे शुरू हो रहे हैं. उसी कड़ी में मंगलवार को 6 महीने बाद तहसील दिवस की सुनवाई शुरू हुई. तहसील दिवस में कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा गया. 6 महीने बाद लखनऊ की सदर तहसील में समाधान दिवस के दिन दोपहर तक 19 फरियादियों ने अपनी फरियाद सुनाई.

हाल ही में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया था कि प्रदेश भर में तहसील स्तर पर होने वाले समाधान दिवस का आयोजन किया जाएगा. जिसके बाद मंगलवार को तहसील दिवस की सुनवाई शुरू हुई. लखनऊ की सदर तहसील में डीएम अभिषेक प्रकाश ने तहसील दिवस की अध्यक्षता की. दोपहर तक सिर्फ 19 फरियादी ही अपनी फरियाद सुनाने आए. फरियाद सुनने के लिए लगभग 45 अधिकारी मौजूद रहे.

डेटिंग साइट पर हो रहा है लाखों का निजी डेटा चोरी, कहीं आप तो नहीं हुए शिकार!

तहसील दिवस पर कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कुछ सावधानियां बरती जा रही हैं. सदर तहसील में सभागार कक्ष के बाहर महिला और पुरूष के लिए अलग-अलग डेस्क बनाई गईं है. यहां आने वाले हर शख्स की थर्मल स्क्रीनिंग की जा रही है और नाम-पता भी लिखा जा रहा है. जिसके बाद ही उनको अंदर भेजा जा रहा है. हॉल के अंदर एक बार में दो ही फरियादी जा सकते हैं. हर किसी को एक-दूसरे से 8 फीट की दूरी रखना अनिवार्य है. जिसके लिए चूने से निशान भी बनाए गए हैं.

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें