लखनऊ: UPPSC खंड शिक्षा अधिकारी परीक्षा देने वाले दो सॉल्वर प्रयागराज से गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 17/08/2020 03:25 PM IST
  • यूपी पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स ने उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग द्वारा आयोजित खंड शिक्षा अधिकारी की परीक्षा में फर्जी तरीके से परीक्षा देने वाले दो युवकों को प्रयागराज से गिरफ्तार किया है.
यूपीपीएससी की परीक्षा देने वाले दो फर्जी सोल्वर गिरफ्तार

लखनऊ. यूपी पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (STF)ने शिक्षा माफिया के दो युवक को गिरफ्तार किया है. उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग द्वारा आयोजित खंड शिक्षा अधिकारी की परीक्षा में फर्जी तरीके से परीक्षा देने वाले दो युवकों को प्रयागराज से यूपी पुलिस ने गिरफ्तार किया. दोनों को प्रयागराज जिले के चिन्मयानन्द विद्यालय, जो कि खण्ड शिक्षा अधिकारी का परीक्षा केंद्र था। वहां से गिरफ्तार किया गया.

पुलिस ने प्रयागराज जिले के चिन्मयानन्द विद्यालय परीक्षा केंद्र से वास्तविक अभ्यर्थी धीरेंद्र मौर्य और उसके नाम पर परीक्षा दे रहे (प्रॉक्सी कैंडीडेट) सुधीर पटेल को गिरफ्तार किया. सुधीर कुमार जिले के टुडियार श्रीकपूरा का रहने वाला है. वहीं, गिरफ्तार धीरेंद्र कुमार हंडिया क्षेत्र के हिन्दुवानी का रहने वाला है. पुलिस के मुताबिक, दोनों युवक के पास फर्जी दो फर्जी पहचान पत्र थे, उनके पास से दो मोबाइल और 37,710 रुपये नकद बरामद किए गए.

लखनऊ में बड़ी लापरवाही, कोरोना से मरने वाले वृद्ध के परिवार को थमाया युवक का शव

गिरफ्तारी के बाद आरोपी सुधीर पटेल से पूछताछ की गई. पूछताछ में उसने बताया कि वह एक कोचिंग में पढ़ता है,जिसका नाम जय मां अंबे स्टडी सेंटर है. उसने बताया कि यह कोचिंग सेंटर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाता है. कोचिंग सेंटर के संचालक अलग-अलग प्रवेश परीक्षाओं में अभ्यर्थियों से पैसे लेकर पास फर्जीवाड़ा करके पास करवाने का ठेका लेते हैं.

लखनऊ: सपा संरक्षक मुलायम सिंह को किडनी इंफेक्शन, अस्पताल से अभी नहीं होगी छुट्टी

सुधीर ने बताया कि उसकी मुलाकात कोचिंग सेंटर के मालिक आशुतोष नाथ के जरिए अभ्यर्थी धीरेंद्र कुमार से हुई थी. सुधीर ने आशुतोष नाथ को इस परीक्षा में बैठने के लिए 50 हजार रुपये का ऑफर दिया गया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें