लखनऊ विश्वविद्यालय: स्टूडेंट्स ने दी इतिहास की परीक्षा, मिले पर्शियन ग्रामर के नंबर

Priya Gupta, Last updated: Wed, 22nd Sep 2021, 8:42 AM IST
  • लखनऊ विश्वविद्यालय की बड़ी लापरवाही सामने आई है. जिन छात्राओं ने इतिहास विषय लिया उनके परिणाम में इतिहास की जगह पर्शियन ग्रामर विषय चढ़ा दिया.
लखनऊ विश्वविद्यालय.( फाइल फोटो ) 

लखनऊ: लखनऊ विश्वविद्यालय की बड़ी लापरवाही सामने आई है. बीए आखिरी सेमेस्टर की परीक्षा के परिणाम18 सितंबर को जारी किया था. लेकिन काफी बडी संख्या में छात्र-छात्राओं के विषय ही बदल गए. जिन छात्राओं ने इतिहास विषय लिया उनके परिणाम में इतिहास की जगह पर्शियन ग्रामर विषय चढ़ा दिया. इस बारे में शिकायत करने के बााद जब विषय सही किया गया तो भी इतिहास की जगह गलत विषय वेस्टर्न वर्ल्ड अंकित कर दिया गया.

ये लगती एक बार नहीं दो-दो बार की गई , ये परेशानी एक स्टूडेंट्स के साथ नहीं बल्कि 44 स्टूडेंट्स के साथ हुई है. इनमें से कुछ छात्राएं ऐसी भी हैं जिनके विषयों में 80 से 90 नंबर है. लेकिन गलत विषय में सिर्फ 14 अंक दिए गए हैं. स्टूडेंट्स को गलत नंबर देने की वजह से बैक लगा दिया दिया गया. जिससे स्टूडेंट्स काफी परेशान हो गए.

इंदौर: हिंदू धर्म में पैदा हुए मुस्लिम शख्स के अंतिम संस्कार को लेकर हुआ विवाद, जानिए क्या है मामला

आईटी में बीए थर्ड ईयर की स्टूडेंट्स अंशिका श्रीवास्तव ने परीक्षा नियंत्रक से शिकायत की थी. अंशिका के अनुसार उसने इतिहास विषय के तृतीय पेपर सोशियो कल्चर एण्ड इकोनॉमिक्स हिस्ट्री ऑफ इंडिया का पेपर दिया था. लेकिन जब मार्कशीट देखी तो समें पर्शियन ग्रामर विषय अंकित किया गया था. जिसमें सिर्फ 14 अंक दिए थे. शिकायत के बाद विवि प्रबंधन की ओर से कहा गया कि गलती सुधार दी है लेकिन इस बार चुने गए विषय पर्शियन ग्रामर को हटा दोबारा गलती करते हुए वेस्टर्न वर्ल्ड विषय अंकित कर दिया.

परीक्षा नियंत्रक प्रो. एएम सक्सेना ने इस मामले में जांच कराने के आदेश दिए. परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि छात्र-छात्राओं में ओएमआर शीट में प्रश्न पत्र का कोड गलत भरा था. जिसके वजह से ये परेशानी हुई है. उन्होंने कहा कि सभी शिकायतों का तत्काल समाधान किया जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें