यूपी के लाखों किसान कम्प्यूटर की गड़बड़ी के कारण "किसान सम्मान निधि" से वंचित

Smart News Team, Last updated: Sun, 3rd Jan 2021, 3:23 PM IST
  • यूपी के 7.5 लाख किसानों को तकनीकी गड़बड़ी के कारण किसान सम्मान निधि से वंचित रहना पड़ा है. दिल्ली से हुई इस गड़बड़ी में किसानों के आधार कार्ड और तहसील की जानकारी में गलती हुई है. प्रशासन का कहना है कि कैंप लगाकर वंचित किसानों की समस्या को दूर किया जाएगा.
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि.

उत्तर प्रदेश में डाटा फीडिंग की गड़बड़ी के कारण लाखों किसान "प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि" से वंचित रह गये हैं. प्रशासन का कहना है कि ये लापरवाही दिल्ली के स्तर पर सॉफ्टवेयर के कारण हुई है. किसानों का कहना है कि किसी का आधार कार्ड गलत हुआ है तो किसी की तहसील ही गलत कर दी गई है.

इस गड़बड़ी के कारण 7.5 लाख लोग प्रभावित हुए हैं

बरेली मंडल के 30 हजार से ज्यादा और लखनऊ मंडल में 53 हज़ार किसान छूटे हैं. लखीमपुर जिले के धौरहरा तहसील के किसान संगमलाल मिश्रा को एक भी बार किसान सम्मान निधि नहीं मिली है. वहीं संगमलाल का कहना है कि कम्प्यूटर पर उनका नाम गोला तहसील में दर्ज है, जिस कारण से उनका सत्यापन ही नहीं हो सका है. लखीमपुर खीरी के प्रमोद गुप्ता का भी ठीक यही मामला है. लेखपाल का कहना है कि पहले तहसील को ठीक कराना जरूरी है.

बताया गया कि गलती दिल्ली से हुई, स्थानीय स्तर पर कुछ नहीं होगा है

इस संबंध में जिलाधिकारियों समेत तमाम अधिकारियों से बात की गई है. खीरी से भाजपा सांसद अजय मिश्र ने कहा कि उन्होंने कृषि कल्याण मंत्री सूर्य प्रताप शाही को पत्र लिखकर किसान सम्मान निधि की राशि किसानों को दिलाने के लिए पत्र लिखा है.

जून में शुरू होगा कानपुर-लखनऊ एक्सप्रेस-वे का निर्माण

तमाम शिकायतों के बाद अपर मुख्य सचिव, कृषि डॉ देवेश चतुर्वेदी का कहना है कि कैंप लगाकर किसानों की समस्या को दूर किया जाएगा. 31 मार्च तक सभी किसानों के खातों में धनराशि भेजने का लक्ष्य रखा गया है.

सपा एमएलसी आशुतोष ने दिया विवादित बयान, कहा- नपुंसक न बना दे कोविड वैक्सीन

अब तक बरेली मंडल के 30 हजार, मुरादाबाद मंडल के 41 हजार, लखनऊ से 53 हजार, अयोध्या के 62 हजार, देवीपाटन के 57 हजार, मेरठ के 40 हजार, प्रयागराज के 30 हजार, अलीगढ़ के 1 लाख 40 हजार, गोरखपुर के 1 लाख 30 हजार, वाराणसी के 90 हजार और बस्ती के 1 लाख 48 हजार से अधिक किसान तकनिकी गलती के कारण योजना से वंचित रह गये हैं.

लखनऊ: KGMU ओपीडी और भर्ती मरीजों को देने होंगे कोरोना टेस्ट के पैसे, आदेश जारी

मकान बनाना हुआ महंगा, सरिया-सीमेंट-ईंट-गिट्टी के दाम बढ़े, जानें नए रेट

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें