पुलिस थानों का होगा आधुनिकीकरण , रिसेप्शन कक्ष और हेल्प डेस्क की होगी सुविधा

Smart News Team, Last updated: 19/10/2020 07:09 AM IST
  • पुलिस थानों में नई व्यवस्था लागू करने के दिशा निर्देश दिए गए, इस व्यवस्था के बाद से प्रार्थना पत्र गायब नहीं होंगे और हर आगंतुक को दी जाएगी प्राप्ति रसीद.
UP Police (File Photo)

लखनऊ.पुलिस थानों में शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं की जाने पर नई व्यवस्था लागू करने के निर्देश दिए है. इस व्यवस्था के अनुसार सभी थानों में शिकायत करने के बाद रसीद दी जाएगी. डीजीपी हितेश चंद्र आवस्थी ने थानों में से प्रार्थना पत्र गायब हो जाने के बाद उसके इस पर कोई कार्रवाई ना करने के कारण यह नए व्यवस्था निर्देश दिए हैं. जिसमें कंप्यूटर से छपी रसीद के साथ सभी थानों में आगंतुक कक्ष बनाए जाएंगे एवं महिला हेल्प डेक्स का निर्माण किया जाएगा.

डीजीपी अवस्थी ने जोनल एडीजी, दोनों पुलिस कमिश्नरों, रेंज के आईजी और डीआईजी इन सभी के साथ जिलों के पुलिस कप्तानों को नए दिशा निर्देश भेजे हैं. इन दिशानिर्देश में उन्होंने कहा है कि सभी थानों में एक आधुनिक केंद्रीयकृत महिला हेल्प डेस्क तैयार करी जाए. साथ ही शिकायतकर्ताओं के लिए रिसेप्शन भी बनाया जाए. इससे आगंतुकों, शिकायतकर्ता के साथ में पीड़ित महिलाओं को ज्यादा दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा. उन्होंने कहा रिसेप्शन की मदद से थाने में आने वाले लोगों को जो जानकारी चाहिए वह उन्हें जल्दी दी जा सकेगी. उन्होंने कर्मचारियों को प्रशिक्षित करने के साथ में कहा कि महिला हेल्प डेस्क पर ऐसी दो महिलाओं सिपाहियों को नियुक्ति दी जाए जिनकी भाषा मृदु हो और व्यवहार कुशल हो. 

UP के लिए रेलवे ने किया पूजा स्पेशल ट्रेन का ऐलान, देखें पूरा शेड्यूल

इसके साथ ही मेट्रोपॉलिटन सेंटर और बड़े शहरों में अंग्रेजी भाषा के प्रशिक्षण देने की बात कही. पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय मेरठ में मौजूद लैंग्वेज लैब में सभी को प्रशिक्षित किया जाएगा. इसके साथ में उन्होंने यह बात भी कही कि प्रशिक्षण को महिला पुलिसकर्मी ही संचालित करें रिसेप्शन पूर्णता कंप्यूटराइज्ड हो.

बलिया गोलीकांड: यूपी STF ने लखनऊ से गिरफ्तार किया मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह

डीजीपी ने यह बात भी कही कि आगंतुक, शिकायतकर्ता या पीड़ित महिलाओं में से कोई भी अगर थाने में आता है तो उसको सबसे पहले रिसेप्शन पर मौजूद कर्मचारी अटेंड करें. इसके बाद में वह उनके विवरण को कंप्यूटर में फीड कर ले और उन लोगों को पुलिस ने प्रार्थना पत्र की प्राप्ति कर ली है की रसीद दे. थाना प्रभारी और बीट प्रभारी को भी शिकायत कर्ताओं के बारे में रिसेप्शन पर ही अवगत करवाया जाए.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें