लखनऊ: परिवहन निगम के अफसर ने बना डाला फर्जी बस डिपो, विभाग को नहीं लगी भनक

Smart News Team, Last updated: 19/01/2021 09:48 AM IST
  • यूपी परिवहन के अफसर ने सहारनपुर क्षेत्र में एक फर्जी डिपो बना डाला. यह डिपो 6 माह तक चलता रहा, लेकिन विभाग को इसी भनक तक नही लगी. 4 दिसंबर को एक बस दुर्घटना के बाद इस फर्जीवाड़े का खुलासा हो सका. विभाग मामले की जांच में जुट गया है.
उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम के अफसर ने बनाया फर्जी बस डिपो. ( सांकेतिक फोटो )

लखनऊ: उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम में एक बड़ा फर्जीवाड़ा का खुलासा हुआ है. रोडवेज के एक अफसर ने सहारनपुर क्षेत्र में एक फर्जी बस डिपो का निर्माण कर दिया. यहां पर सरकारी बसों का आना-जाना लगा रहा, लेकिन परिवहन विभाग को इसकी भनक तक नहीं लगी. अफसर ने डिपो में कर्मचारियों की तैनाती भी की. एक बस दुर्घटना के बाद इस फर्जी रोडवेज का खुलासा हुआ. परिवहन निगम के एमडी दीपक साहू ने पूरे मामले की रिपोर्ट तलब की है.

कैसे हुआ खुलासा

चार दिसंबर जलालाबाद में एक बस दुर्घटना हो गई. जब अधिकारियों के इस दुर्घटना की जांच शुरु की, तो पता चला कि प्रदेश में इस नाम का कोई डिपो ही नही है. आनन-फानन में इस मामले की जांच शुरु की गई. जांच में अधिकारियों को पता चला कि सहारनपुर क्षेत्र में एक फर्जी डिपो चल रहा है. अधिकारियों ने जांच रिपोर्ट को परिवहन मुख्यालय भेज दिया है. जांच में पता चला कि यह डिपो छह माह से चल रहा था.

UPPSC: पहली बार महज 7 दिनों में होगा PCS का इंटरव्यू, जानें तारीख

खुलासे के बाद सहारनपुर क्षेत्र में तैनात अफसर के कारनामे से विभाग में हडकंप मच गया. प्राप्त जानकारी के अनुसार, सहारनपुर में ही एक बंद पड़े बस अड्डे को डिपो में तब्दील कर दिया गया था. इस फर्जी डिपो में बस की मरम्मत और संचालन का कार्य होता था. जलालाबाद डिपो के नाम पर उन बेकार बसों को चलाया जा रहा था जिनकी निलामी होनी थी. विभाग के आला अधिकारियों ने इसकी अन्य ऐंगलो से भी जांच की है लेकिन प्राथमिक जांच में टिकटों की ब्रिकी का कोई रिकार्ड नहीं मिला है.

BJP को हराने के लिए वेस्ट बंगाल में ममता बनर्जी का समर्थन करेंगे अखिलेश यादव

लखनऊ : पारंपरिक अनाज की खेती छोड़ स्ट्राबेरी उगा रहे हैं किसान

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें