रास्ता भटकी लड़की को बंधक बनाकर महिला ने पति से कराया रेप फिर काट दी जीभ

Somya Sri, Last updated: Fri, 1st Oct 2021, 12:58 PM IST
  • लखनऊ में 40 वर्षीय महिला ने रास्ता भटक गयी 19 वर्षीय लड़की को किसी तरह बहला फुसलाकर पहले घर ले आई. फिर उसे बंधक बनाकर अपने पति द्वारा उसका रेप कराया. पति ने लड़की के साथ 7 दिनों तक लगातार दुष्कर्म किया. घटना की पीछे की वजह का अबतक पता नहीं चल सका है. फिलहाल पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है और उसके फरार पति के तलाश में छानबीन कर रही है.
रास्ता भटकी लड़की को बंधक बनाकर महिला ने पति से कराया रेप फिर काट दी जीभ (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है. जहां खुद की पत्नी ने अपने पति से एक 19 साल की लड़की के साथ रेप करने को कहा. 40 वर्षीय महिला रास्ता भटक गयी लड़की को किसी तरह बहला फुसलाकर घर ले आई. फिर उसे बंधक बनाकर अपने पति द्वारा उसका रेप कराया. पति ने लड़की के साथ 7 दिनों तक लगातार दुष्कर्म किया. घटना की पीछे की वजह का अबतक पता नहीं चल सका है. फिलहाल पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है और उसके फरार पति के तलाश में छानबीन कर रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक महिला ने लड़की को पीटा, उसकी जीभ भी काट दी. ताकि वह अपनी पीड़ा किसी को बता ना सके. 7 दिनों तक बंधक में रही लड़की किसी तरह पति-पत्नी के चंगुल से भाग निकली. घाव भरने के बाद उसने अपने परिवार को इशारों से अपनी पीड़ा बताई. जिसके बाद परिवार वालों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. लड़की 21 सितंबर से गायब थी.

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले प्रशासनिक फेरबदल, 7 आईपीएस और 48 पीसीएस का ट्रांसफर

गाजीपुर के थाना प्रभारी अनिल सिंह ने बताया कि लड़की के साथ दुष्कर्म किया गया है. उसे बुरी तरह पीटा और प्रताड़ित किया गया. साथ ही अप्राकृतिक यौन संबंध बनाए गए और उसकी जीभ भी काट दी गई. पुलिस ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर आरोपी महिला आरती को गिरफ्तार कर लिया गया है. जबकि उसका पति जीतू सोनी फरार है. पुलिस ने आरती और जीतू के खिलाफ दुष्कर्म, गंभीर चोट, गलत तरीके से बंधक बनाने, शादी के लिए मजबूर करने के लिए लड़की का अपहरण और आईपीसी की अन्य संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि महिला आरती से पूछताछ कर रही है कि आखिर उसने ऐसा क्यों किया है. हालांकि एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी का कहना है कि पीड़िता और आरोपी दोनों समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें