लखनऊ: शराब के नशे में पति करता था मारपीट, पत्नी ने उतारा मौत के घाट, पुलिस ने मर्डर केस सुलझाया

Priya Gupta, Last updated: Sun, 5th Sep 2021, 10:03 AM IST
  • 6 अगस्त को कपड़ा व्यवसायी सचिन चोपड़ा के हत्या मामले में पुलिस ने खुलासा किया है.
लखनऊ: पत्नी ने की पति की हत्या,

लखनऊ: 6 अगस्त को कपड़ा व्यवसायी सचिन चोपड़ा के हत्या मामले में पुलिस ने उसकी पत्नी रिनी को गिरफ्तार कर लिया गया है. शराब पीकर आए सचिन पत्नी के साथ मारपीट करता था. इसलिए उसकी पत्नी ने नायलान की रस्सी से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी थी. घर में ही सचिन का शव मिला था. घटना के करीब एक महीने बाद तालकटोरा पुलिस ने आरोपित रिनी को गिरफ्तार कर हत्या का पर्दाफाश कर लिया गया है. पुलिस के मुताबिक, रिनी ने हत्या करने की बात स्वीकार की है.उसके पास से वारदात में प्रयुक्त रस्सी भी बरामद कर ली गई है.

पोस्टमार्टम के बाद पत्नी हुआ था शक

पुलिस को रिनी पर पोस्टमार्टम के बाद ही शक हो गया था. रिनी ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया था.उसने अपने अमीनाबाद में रहने वाले अपने देवर रोहित से कहा था कि वह कोविड प्रोटोकाल के तहत शव का पोस्टमार्टम नहीं कराना चाहती है.सने अपने अमीनाबाद में रहने वाले अपने देवर रोहित से कहा था कि वह कोविड प्रोटोकाल के तहत शव का पोस्टमार्टम नहीं कराना चाहती है.क्योंकि आशंका है कि पति को कोविड रहा हो. पोस्टमार्टम में पूछताछ के दौरान भी रिनी ने कई बार बयान बदले थे.उसने कहा था कि पति की एकाएक हालात बिगड़ी और उनकी मौत हो गई.

राजस्थान: जेल में सजा काट रहे पिता के हाथ से हो मां का अंतिम संस्कार, 16 घंटे धरने पर बैठी रही बेटी

मौत के बाद सचिन के गले निशान थे, पोस्टमार्टम को लेकर रिनी ने काफी हंगामा किया था. लिस ने जब शव का पोस्टमार्टम कराया तो गला कसने की पुष्टि हुई. सचिन के शरीर पर भी चोटों को निशान मिले थे.पुलिस ने पड़ताल शुरू की तो काफी सबूत इक्ट्ठा किया जिसके बाद रिनी से कई बार पुलिस ने पूछताछ की और घटना की सारी सच्चाई बता दी.

मौत के बाद देवर और घर वालों को दी थी सूचना

पति की मौत के बाद रिनी ने अपने देवर और अन्य घरवालों को सूचना दी थी कि सचिन की हालत बिगड़ गई है. रिनी ने उनसे कहा था कि अभी जिंदा हैं उन्हें अस्पताल ले चलो. घर वालों संग रिनी, सचिन को लेकर ट्रामा पहुंची. जब वहां डाक्टरों ने सचिन को मृत घोषित कर दिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें