यूपी में बेसिक शिक्षा को लेकर बड़े ऑपरेशन की तैयारी, योगी सरकार ने उठाया ये कदम

Smart News Team, Last updated: 07/03/2021 07:44 AM IST
  • योगी सरकार ने बेसिक शिक्षा परिषद विभाग में घोटाला का खुलासा होने के बाद सचिव संजय सिन्हा को निलंबित कर दिया है. इसी के साथ सरकार बड़े ऑपरेशन की तैयारी में जुट गई है.
योगी सरकार ने बेसिक शिक्षा विभाग के सचिव पर की कार्रवाई.( सांकेतिक फोटो )

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के प्राथमिक विद्यालयों में पढ़ा रहे फर्जी शिक्षकों के मामले का पर्दाफाश होने के बाद प्रदेश की योगी सरकार एक और ऑपरेशन की तैयारी को अंजाम देने जा रही है. बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव रहे संजय सिन्हा और उनके कार्यालय में हुए तबादलों, मृतक आश्रित कोटे में हुई नियुक्तियों, नियम विरुद्ध प्रोन्नतियों और बर्खास्त शिक्षकों की बहाली का मामला खुलने वाला है. सरकार मामले की जांच सतर्कता अधिष्ठान (विजिलेंस) के हाथ में दी है.

बैसिक शिक्षा विभाग के निदेशक साक्षरता, वैकल्पिक शिक्षा, उर्दू एवं प्राच्य भाषाएं के सचिव संजय सिन्हा को शुक्रवार को निलंबित कर दिया है. विजिलेंस टीम की यह कार्रवाई उस समय होने जा रही है जब वह अपनी सेवानिवृत्ति के करीब थे. 

यूपी के अटल स्कूलों में छठी से लेकर 12वीं तक के छात्र फ्री में करेंगे पढ़ाई

विजिलेंस टीम अपनी जांच तबादलों के बदले पैसे के होने वाले लेन-देन पर होगी. इसके अलावा टीम बिना अनुमति के मृतक आश्रित कोटे में की गई नियुक्तिया, बीएसए द्वारा बर्खास्त किए गए शिक्षकों की बहाली, बिना रिक्त पद के होने के बाबजूद संबंधित मामलों की जांच करेगी. 

UPPBPB जेल वार्डर, फायरमैन एग्जाम का रिजल्ट जारी, ऐसे देखें अपना परिणाम

सचिव के आदेश पर होते थे तबादले

विजिलेंस टीम को अपनी जांच में पता चला है कि बेसिक शिक्षा परिषद एक समय ऐसा भी था जब शिक्षकों के तबादले सीधे सचिव कार्यालय से आते थे. सचिव के आदेश के बाद बीएसए उसी आदेश के हवाले पर शिक्षकों को तबादला कर देते थे. जांच में पता चला है कि ऐसा सत्र के बीच में भी किया गया है. यह मामले प्रदेश के एक दर्जन से ज्यादा जिलों में पाए जा सकते है. 

आजम खान के समर्थन में 12 से 21 मार्च तक रामपुर से लखनऊ साइकिल यात्रा निकालेगी SP

ITF World Tour: यूकी भांबरी और साकेत मायनेनी की जोड़ी ने जीता युगल खिताब

योगी सरकार का किसानों को लेकर बड़ा फैसला, खेती की नीलामी में देगी बड़ी राहत

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें