अय्याशी करते पकड़ा तो आशिक ने 4 साल के बच्चे के मुंह में घुसा दिया तमंचा, वीडियो वायरल

Atul Gupta, Last updated: Mon, 22nd Nov 2021, 5:00 PM IST
  • यूपी के मुरादाबाद में एक बच्चे ने अपनी मां को किसी गैर मर्द के साथ आपत्तिजनक हालत में देख लिया. बच्चा किसी को इस बारे में ना बता दे इसलिए उस शख्स ने बच्चे के मुंह में देसी कट्टे की नलकी डालकर धमकी दी जिसका वीडियो भी बनाया.
बच्चे के मुंह में लगाया तमंचा  (सांकेतिक फोटो)

लखनऊ. सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसने सब को हिला कर रख दिया है. इस वीडियो में एक व्यक्ति 4 साल के बच्चे के मुंह में पिस्टल भरते देखा जा सकता है. इस 50 सेकंड के लंबे वीडियो में 27 वर्षीय अजीत कुमार के रूप में पहचाने जाने वाले व्यक्ति को बच्चे को धमकाते हुए देखा जा सकता है. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होते ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया और मुरादाबाद की जेल भेज दिया गया है.

यह मामला उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद का है. पुलिस के मुताबिक, अजीत कुमार का कथित तौर पर बच्चे की मां के साथ अफेयर चल रहा था और लड़के ने दोनों को समझौता करने की स्थिति में देख लिया था. पूछताछ के दौरान, कुमार ने कबूल किया कि उसे डर था कि बच्चा अपने पिता को बता देगा कि उसने क्या देखा है.

आरोपी ने खुद बनाए वीडियो

दिलारी थाने के थाना प्रभारी सुरेश कुमार ने कहा कि घटना के वक्त आरोपी शराब के नशे में था. उसे एक देशी पिस्तौल और तीन कारतूस के साथ गिरफ्तार किया गया. अपराध करते हुए उसका अपना वीडियो, उसने खुद सोशल मीडिया पर साझा किया था.

इन धाराओं में दर्ज हुआ मामला

पुलिस के अनुसार अजीत कुमार पर बाल संरक्षण अधिनियम की धारा 75 और शस्त्र अधिनियम की धारा 25 के साथ आईपीसी की धारा 363 (अपहरण), 504 (जानबूझकर अपमान) और 506 (आपराधिक धमकी) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

पिता ने दर्ज करवाई शिकायत

जानकारी के मुताबिक लड़के के पिता व्यापारी हैं और अक्सर काम के सिलसिले में बाहर रहते हैं. उसकी पत्नी अपनी सास और बेटे के साथ रहती है. वह हाल ही में मुरादाबाद के दिलारी इलाके के एक गांव में अपने मायके चली गई थी जहां यह घटना हुई. सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल होने के बाद लड़के के पिता को घटना की जानकारी हुई. उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. एसएचओ सुरेश कुमार ने कहा कि बच्चे को उचित परामर्श दिया जाएगा ताकि वह सदमे से उबर सके.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें