मायावती: कांग्रेस, सपा और भाजपा की सरकार जनता को कानून राज देने में रही विफल

Smart News Team, Last updated: Sat, 3rd Jul 2021, 1:55 PM IST
बसपा सुप्रीमो मायावती ने शनिवार को दो और ट्वीट की मदद से यूपी में बीजेपी, कांग्रेस व सपा के शासनकाल में सरकारी तंत्र और पुलिस को निष्पक्ष तरीके से काम न करने का आरोप लगाया. साथ ही मायावती ने बीएसपी की तरफ से मांग रखा कि सरकार यूपी के नए डीजीपी और तंत्र को बिना भेदभाव के काम करने दे.
मायावती ने कहा बीएसपी शासनकाल में सरकारी तंत्र को निष्पक्ष काम करने की छूट दी गई. (फाइल फोटो)

लखनऊ : ट्विटर पर आए दिन एक्टिव रहने वाली बसपा सुप्रीमो मायावती शनिवार के दिन दो और ट्वीट करके विपक्षी पार्टी भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस पार्टी और समाजवादी पार्टी पर निशाना साधा है. बसपा सुप्रीमो मायावती ने तीनों पार्टियों के शासनकाल में कानून व्यवस्था को फेल बताया हैं. साथ ही बसपा सुप्रीमो मायावती ने तीनों पार्टियों पर अपने अपने शासनकाल में पुलिस प्रशासन और सरकारी मशीनरी तंत्र को अपने हिसाब से गलत इस्तेमाल करने का आरोप लगाया.

बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने पहले ट्वीट में कहा कि “ जैसाकि सर्वविदित है कि यूपी में चाहे कांग्रेस पार्टी की सरकार रही हो या सपा की अथवा वर्तमान में भाजपा की, पुलिस व सरकारी तंत्र को निष्पक्षता से काम नहीं करने देने व इनका घोर दुरुपयोग करने के कारण ये सभी सरकारें यहाँ की जनता को कानून का राज देने में अति-विफल रही हैं"

मायावती ने पंजाब कांग्रेस सरकार पर साधा निशाना, कहा बिजली संकट से परेशान है आमजन

अपने दूसरे ट्वीट में मायावती ने कहा कि “जबकि बीएसपी के शासनकाल में कानून द्वारा कानून का राज स्थापित करने के लिए सरकारी तंत्र को निष्पक्षता से काम करने की छूट दी गई तथा कानून तोड़ने पर पार्टी के एमपी को भी जेल भेजा गया। अतः भाजपा नए डीजीपी व अन्य सरकारी तंत्र को स्वतंत्रता व निष्पक्षता से काम करने दे बीएसपी की माँग” बसपा सुप्रीमो मायावती और उनके पार्टी बसपा के लिए आने वाले समय चुनाव के नजरिए से काफी महत्वपूर्ण है. बसपा पार्टी के सामने साल 2022 में यूपी का विधानसभा चुनाव है. तो वही पंजाब में शिरोमणि अकाली दल के गठबंधन के साथ पंजाब में चुनाव है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें