बसपा सुप्रीमो मायावती का अखिलेश पर हमला- SP का कुनबा व जनाधार नहीं बढ़ने वाला

Ankul Kaushik, Last updated: Sun, 3rd Oct 2021, 7:03 PM IST
  • बसपा सुप्रीमो व यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर ट्वीट करके निशाना साधा है. मायावती ने ट्वीट करके लिखा है कि दूसरी पार्टियों के स्वार्थी, टिकटार्थी व निष्कासित लोगों को सपा में शामिल कराने से इनकी पार्टी का कुनबा व जनाधार आदि बढ़ने वाला नहीं है.
बसपा सुप्रीमो मायावती (फाइल फोटो)

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व बसपा सुप्रीमो मायावती ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर हमला बोला है. मायावती सपा पर निशाना साधते हुए ट्वीट कर लिखा कि दूसरी पार्टियों के स्वार्थी, टिकटार्थी व निष्कासित लोगों को सपा में शामिल कराने से इनकी पार्टी का कुनबा व जनाधार आदि बढ़ने वाला नहीं है. यह केवल खुद को झूठी तसल्ली देने व अपनी पार्टी से संभावित भगदड़ को रोकने की कोशिश के अलावा और कुछ नहीं, जनता यह सब खूब समझती है.अगर सपा दूसरी पार्टियों के ऐसे लोगों को पार्टी में लेगी तो निश्चय ही टिकट की लाइन में खड़े इनके बहुत लोग भी दूसरी पार्टियों में जाने की राह जरूर तलाशेंगे. जिससे इनका कुनबा व पार्टी का जनाधार बढ़ने वाला नहीं बल्कि हानि ही ज्यादा होगी, किन्तु कुछ अपनी आदत से मजबूर होते हैं.

वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा कि इसके अलावा, मीडिया द्वारा भी इन खबरों को जिस प्रकार से बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया जाता है. उससे बीएसपी का महत्त्व कम होने के बजाय बढ़ ही रहा है कि जब इनके ऐसे लोगों का इतना महत्त्व है तो फिर यकीनन बीएसपी नेताओं व उम्मीदवारों आदि का पार्टी के बल पर जमीन पर कितना अधिक दम होगा.

लखीमपुर खीरी बवाल: अखिलेश यादव ने BJP पर साधा निशाना, बोले -गृह राज्यमंत्री के पुत्र...

बता दें कि मयावती ने यह ट्वीट इसलिए किया है कि बसपा के कई नेता अखिलेश की सपा में शामिल हो गए हैं. इसलिए मायावती ने कहा है कि अखिलेश की पार्टी में ऐसे नेता शामिल हुए हैं जो दूसरी पार्टियों से निकाले गए हैं. हाल ही बसपा के राष्ट्रीय महासचिव, पूर्व सांसद वीर सिंह एडवोकेट (मुरादाबाद) और फिरोजाबाद से पूर्व विधायक अजीम भाई सपा में शामिल हुए थे. इससे पहले भी कई बसपा नेता हाथी की सवारी छोड़कर सपा की साइकिल पर सवार हुए हैं. बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव 2022 से पहले मायावती ने साफ कर दिया है कि वह अपराधी छवि वाले उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में नहीं उतारेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें