मेरठः सहारनपुर-दिल्ली पैसेंजर में आग की जांच तेज,फॉरेंसिक लैब भेजे गए सैंपल से खुलेगा राज

Sumit Rajak, Last updated: Mon, 7th Mar 2022, 1:17 PM IST
  • मेरठ में दौराला स्टेशन पर शनिवार को सहारनपुर से चलकर मुजफ्फरनगर-मेरठ के रास्ते दिल्ली जाने वाली 12 डिब्बों की पैसेंजर ट्रेन में शनिवार सुबह आग लग गई थी. दौराला स्टेशन पर पहुंची ट्रेन के दो डिब्बे जलकर राख हो गए. ट्रेन के दो कोच में आग लगने के मामले की जांच रेलवे मुख्यालय और रेलवे सुरक्षा बल अपने स्तर से करेंगे.
फाइल फोटो

मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ में दौराला स्टेशन पर शनिवार को सहारनपुर से चलकर मुजफ्फरनगर-मेरठ के रास्ते दिल्ली जाने वाली 12 डिब्बों की पैसेंजर ट्रेन में शनिवार सुबह आग लग गई थी. दौराला स्टेशन पर पहुंची ट्रेन के दो डिब्बे जलकर राख हो गए.  ट्रेन के दो कोच में आग लगने के मामले की जांच रेलवे मुख्यालय और रेलवे सुरक्षा बल अपने स्तर से करेंगे. वहीं जले हए दो कोच का सैंपल गाजियाबाद की फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला भेजा गया है. जिससे पता लगायेगा कि यह हादसा था या फिर किसी असमाजिक तत्व की हरकत. इसके लिए रेलवे मुख्यायल की तरफ से तीन सदस्यीय उच्च स्तरीय कमेटी गठित कर दी गई थी. वहीं कमेटी की ओर से अलग से तकनीकी जांच रिपोर्ट मुख्यालय को सौंपेगी.

इसके लिए रविवार को एक कोच को गाजियाबाद की ओर रवाना कर दिया गया. साथ ही इस कोच को शकूरबस्ती में मेमू शेड में भेजा दिया जाएगा. इसकी जांच करने के लिए रेलवे की ओर से उच्चस्तरीय कमेटी के सदस्य अगले एक-दो दिन में मेरठ पहुंच सकते हैं.  जांच को हर पहलू को महत्वपूर्ण मानते हुए किया जा रहा है कि आगे ऐसी किसी भी घटना पर काबू किया जा सके.अन्य वहीं बचे हुए कोच को सहारनपुर की ओर रवाना कर दिया गया.  सहारनपुर-दिल्ली पैसेंजर का मेंटीनेंस सहारनपुर में ही किया जाता है.

मेरठ व्यापरी मंडल ने की घंटाघर पर सेल्फी प्वाइंट बनवाने की मांग

एक संयुक्त रिपोर्ट घटना के बाद मुख्यालय में तैयार कर भेजी गई है. इसमें स्थानीय अधिकारियों की टीम में डिविजन मुख्यालय को संयुक्त रिपोर्ट भेजी है. इसमें कोच एंड वैगन, बिजली विभाग समेत अन्य विभागों के रेलवे अधिकारी शामिल रहते हैं. साथ ही ट्रेन में आग लगने के बाद का प्रकरण और यात्रियों को राहत देने की एक-एक जानकारी की रिपोर्ट मुख्यालय भेजी गई है. जिससे कमिश्नर रेलवे सेफ्टी द्वारा संज्ञान लेने के बाद जानकारी दी जा सके.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें