टूरिज्म में नंबर 1 यूपी, देव दिवाली, रंगोत्सव, कृष्णोत्सव पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र- नीलकंठ तिवारी

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Fri, 24th Sep 2021, 3:57 PM IST
  • राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. इस प्रेस वार्ता के दौरान नीलकंठ तिवारी ने कहा कि 2017 से पहले इन पर्यटक स्थलों की चर्चा नहीं होती थी. जबकि यहां पर्यटकों का आवागमन होता था, लेकिन अब स्थितियां बदली हैं. भयमुक्त वातावरण हुआ है. इसके साथ ही कहा कि यूपी टूरिज्म में नंबर एक बना है. साथ ही देव दिवाली, रंगोत्सव, कृष्णोत्सव पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना है.
2017 से पहले UP पर्यटक स्थलों की चर्चा नहीं होती थी पर अब स्थितियां बदली- नीलकंठ तिवारी

लखनऊ. राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस किया. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान नीलकंठ तिवारी ने यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सरकार की सराहना किया. साथ ही उन्होंने कहा कि यूपी में बहुत से पर्यटक स्थल हैं. भगवान राम, कृष्ण, बुद्ध से जुड़े सभी महत्वपूर्ण स्थल उत्तर प्रदेश में ही हैं. उन्होंने आगे कहा कि 2017 से पहले इन पर्यटक स्थलों की चर्चा नहीं होती थी, जबकि यहां पर पर्यटकों का आवागमन होता था.

इतना ही नहीं नीलकंठ तिवारी ने आगे कहा कि यूपी में पर्यटन की स्थितियां बदली है. यूपी अब भयमुक्त हुआ है. साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि 2016-17 में पर्टयन को बढ़ावा देने के लिए 506 करोड़ का बजट मिला था. जो अब दोगुना हो चूका है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि यूपी 2019-20 में सामान्य पर्यटक में घरेलू पर्यटन में नम्बर 1 पर पहुंच गया था. साथ ही उन्होंने कहा कि सीएम योगी कि सरकार में यूपी के पर्यटक स्थल बेहतर हुए हैं.

यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी के साथ मिलकर निषाद पार्टी लड़ेगी इलेक्शन- धर्मेंद्र प्रधान

इतना ही नहीं उन्होने आगे कहा कि दीपोत्सव में युवाओं को मौका दिया जाता है. 10 हजार युवा दीपक जलाने में सहयोग देते हैं. साथ ही यह भी बताया कि इस साल के दीपोत्सव में 7.5 लाख दीप जलाए जाएंगे. इसके अलावा नीलकंठ तिवारी ने कहा कि देव दीपावली में भी हमने बेहतर किया है. यहां पर रंगोत्सव से लेकर कृष्णोत्सव पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बना है. जानकारी के अनुसार नीलकंठ तिवारी ने यूपी बीजेपी सरकार के साढ़े चार साल पुरे होने पर यह प्रेस कॉन्फ्रेंस किया है. साथ ही आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर भी इस प्रेस वार्ता को किया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें