मोदी कैबिनेट: UP से 7 नए मंत्री, अनुप्रिया, बघेल, भानु, कौशल, वर्मा, अजय, पंकज

Smart News Team, Last updated: Thu, 8th Jul 2021, 7:26 AM IST
  • मोदी कैबिनेट विस्तार में उत्तर प्रदेश से 7 नेताओं को केंद्रीय मंत्री परिषद में जगह मिली है. नए केंद्रीय मंत्रियों में अपना दल की अनुप्रिया पटेल के अलावा बीजेपी के एसपी सिंह बघेल, पंकज चौधरी, भानु प्रताप वर्मा, कौशल किशोर, बीएल वर्मा और अजय मिश्रा टेनी शामिल हैं.
मोदी कैबिनेट में यूपी से अनुप्रिया पटेल, एसपी सिंह बघेल, भानु प्रताप सिंह वर्मा, कौशल किशोर, बीएल वर्मा, अजय मिश्रा टेनी और पंकज चौधरी मंत्री बने हैं.

लखनऊ: मोदी कैबिनेट विस्तार में उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव का ध्यान रखा गया है. प्रदेश से मोदी सरकार ने 7 नेताओं को अपने मंत्रिमंडल में जगह दी है. मोदी सरकार द्वार किए गए केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार में आज 43 नेता राष्ट्रपति भवन में शपथ ले रहे हैं. दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद नरेंद्र मोदी मंत्री परिषद के नए कैबिनेट और राज्यमंत्रियों को शपथ दिला रहे हैं.

मोदी सरकार ने उत्तर प्रदेश से अपना दल की अनुप्रिया सिंह पटेल, महाराजगंज सांसद पंकज चौधरी, भाजपा सांसद सत्यपाल सिंह बघेल, जालौन से सांसद भानु प्रताप सिंह वर्मा, बीएल वर्मा, अजय मिश्रा और मोहनलाल गंज से कौशल किशोर को अपने मंत्रिमंडल में जगह दी है.

जानें कौन हैं वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय में राज्य मंत्री बनने वाली अनुप्रिया पटेल

अनुप्रिया पटेल को वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाया गया है. अनुप्रिया पटेल अपना दल (सोनेलाल) की राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और वह इस समय यूपी के मिर्जापुर से सांसद हैं.  साल 2014 के आम चुनावों में बीजेपी गठबंधन की सदस्य अपना दल ने प्रदेश में 2 सीट हासिल की थी. इसलिए मोदी सरकार ने अपने पहले कार्यकाल में इन्हें राज्य स्वास्थ्य मंत्री बनाया था. अनुप्रिया पटेल के पिता सोनेलाल पटेल यूपी में राजनीति का बड़ा चेहरा रहें और वह बसपा संस्थापकों में भी थे. हालांकि बाद में उन्होंने बसपा से अलग होकर अन्य पिछड़ा वर्ग को ध्यान में रखते हुए अपना दल पार्टी बना ली.

संजय निषाद ने मोदी कैबिनेट में मांगी जगह, याद दिलाई गोरखपुर की पराजय

बता दें कि अनुप्रिया कभी भी राजनीति में नहीं आना चाहती थीं लेकिन पिता सोनेलाल की 2009 में सड़क दुर्घटना में हुई मौत ने उनकी जिंदगी बदल दी. पिता की मौत के बाद वह पार्टी में आईं और उन्हें जनता का प्यार मिला. साल 2102 में वह रोहनिया विधानसभा से चुनाव जीतीं और पार्टी ने फिर दो साल 2014 में बीजेपी के साथ गठबंधन किया. इसके बाद उन्होंने साल 2014 में यूपी के मिर्जापुर से सांसद का चुनाव जीता. इसके बाद रोहनिया सीट पर हुए उपचुनाव में वह अपने पति को चुनाव लड़ाना चाहती थीं लेकिन उनकी मां कृष्णा पटेल खुद चुनावी मैदान में उतरीं लेकिन वह चुनाव हार गई. इसके बाद घरेलू कलह होने लगी और फिर उनकी मां ने अनुप्रिया पटेल और उनके करीबी नेताओं को पार्टी से निकाल दिया. जिसके बाद अनुप्रिया ने साल 2019 में अपनी अलग पार्टी अपना दल (सोनेलाल) बना ली थी.

जानें कौन हैं सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय में राज्य मंत्री बनने वाले भानु प्रताप वर्मा

भानू प्रताप सिंह वर्मा को सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रायल में राज्य मंत्री बनाया गया है. मोदी के मंत्री परिषद में जगह बनाने वाले भानु प्रताप वर्मा यूपी के जालौन से सांसद हैं. भानु प्रताप जालौन से 1996, 1998, 2004, 2014, 2019 का आम चुनाव जीता है. भानु प्रताप के अगर राजनीतिक करियर की बात करें तो साल 1991-92 से उन्होंने उत्तर प्रदेश विधानसभा के सदस्य के तौर पर कदम रखा. इसके बाद वह 1996-98 में 11वें लोकसभा चुनाव में उनकी जीत ने उन्हें राजनीति में एक बड़ा चेहरा बना दिया. इसके बाद साल 1998-99 में 12वें लोकसभा के लिए फिर से निर्वाचित हुए. साल 2001 में उन्हें उपाध्यक्ष, एस.सी. मोर्चा, भाजपा, उत्तर प्रदेश; सदस्य, राष्ट्रीय परिषद, भाजपा का पद मिला.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें